fbpx
Now Reading:
टॉयलेट नहीं बनवाया तो नहीं कर पाएंगे निकाह

टॉयलेट नहीं बनवाया तो नहीं कर पाएंगे निकाह

 Maulvis, muftis in Haryana, Himachal and Punjab have taken this decision, nation नई दिल्ली, (विनीत सिंह) : जमीयत-उलामा-ए-हिंद के सेक्रेटरी जनरल मौलाना महमूद मदनी ने कहा है कि जिस घर में टॉयलेट न हो वहाँ पर मौलवी और मुफ्ती निकाह पढ़ने न जाएं। यह फैसला मदनी ने देश को स्वच्छता की ओर ले जाने के लिए किया है.

मदनी ने बताया कि हरियाणा, हिमाचल प्रदेश और पंजाब के मौलवियों और मुफ्तियों ने संयुक्त रूप से यह फैसला कर लिया है। यह फैसला जल्द ही पूरे देश में लागू करवाया जायेगा.

मदनी के मुताबिक़ हरियाणा, हिमाचल और पंजाब में मुस्लिम विवाह के लिए शर्त के तौर पर टॉयलेट होना जरूरी कर दिया गया है।और बहुत जल्द यह फैसला पूरे देश में लागू किया जायेगा. मदनी ने पिछले हफ्ते असम कॉन्फ्रेंस ऑफ सैनिटेशन (ASCOSAN) 2017 के इनॉगरेशन के दौरान यह घोषणा की।

मदनी ने कहा है की सभी धर्म गुरु इस फैसले का सम्मान करें और इसका पालन करें। इस दौरान मदनी ने सफाई पर जोर दिया. मदनी ने लोगों और देश को स्वच्छ रखने के इरादे से ये फैसला लिया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Input your search keywords and press Enter.