fbpx
Now Reading:
TVF के CEO अरुणाभ कुमार ने एक नहीं कई महिलाओं ने साथ किया हैं गलतकाम, महिलाओं ने लगाये ये इल्जाम..

TVF के CEO अरुणाभ कुमार ने एक नहीं कई महिलाओं ने साथ किया हैं गलतकाम, महिलाओं ने लगाये ये इल्जाम..

नई दिल्ली, (राज लक्ष्मी मल्ल) : यूट्यूब चैनल ‘द वायरल फीवर’ (TVF) के सीईओ और संस्थापक अरुणाभ कुमार पर छेड़छाड़ का आरोप लगाते हुए पीड़ित ने बताया हैं कि अरुणाभ ने अपने घर एक मीटिंग राखी थी जिसमे मेरे साथ तीन और महिलाये उस मीटिंग में आई थी. मीटिंग के बीच में ही अरुणाभ उठ कर अंदर कमरे में चले गए और काफी देर तक मीटिंग के लिए वापस नही आये, तो मैं भी आवाज देते अंदर कमरे की तरफ गई. तभी मुझे लगा की मेरे पीछे कोई हैं और कोई मुझे टच करने के कोशिश कर रहा हैं अचानक मैंने महसूस किया कि किसी ने पीछे आकर मेरे दोनों वक्षस्थल दबा दिए. खबराहट में मैंने जब पीछे देखा तो वो अरुणाभ था. मैं तुरंत कमरे से निकर गई और मीटिंग खत्म करके चली गई. इसके बाद TVF को दुबारा कभी नही पलट कर देखा।

इतना ही नही पीड़ित ने ये भी आरोप लगाया कि उसके साथ ऐसा पहली बार नही हुआ हैं ऐसी छेड़छाड़ ढाई साल के कार्यकाल के दौरान उसके साथ कई बार छेड़छाड़ हुआ है. हालांकि, TVF ने इन आरोपों का झूठा क़रार देते हुए कहा कि ये TVF और उसकी टीम को बदनाम करने के लिए लिखा गया है.

आपको बता दे अरुणाभ पर इसतरह के छेड़छाड़ के मामले पर और कोई महिलाओं ने आरोप लगाते हुए आपबीती शेयर की हैं.

Related Post:  जयपुर का सीरियल रेपिस्ट जीवाणु गिरफ्तार, मासूम बच्चियां को बनाता है हवस का शिकार

पीड़ित ने अपने पोस्ट में लिखा है- उस दिन शाम करीब 6.45 बजे अरुणाभ ने अचानक मुझे कॉल करके ऑफिस बुलाया और रीजन दिया कि मैंने अपना काम पूरा-ठीक तरीके से नही किया हैं. मैं तुरंत ऑफिस पहुंची. वहां तीन लोग मौजूद थे और उनमें से दो पांच मिनट के अंदर चले गए.
अरुणाभ अपनी कुर्सी पर आराम से बैठा था. उसने मेरी तरफ देखा और पूछा- चतर्भुज स्थान का नाम सुनी हो? मैं चकित थी. चतर्भुज स्थान बिहार के मुजफ्फरपुर का रेड लाइट एरिया है. मैंने इस सवाल पर कोई रेस्पांस नहीं दिया. उसने आगे पूछा- मुझे चतर्भुज स्थान बहुत पसंद है. उधर कॉमर्शियल डील होती हैं.

तुम भी तो कॉमर्शियल डील पर आई हो. इस बात को टालते हुए मैंने कहा- अरुणाभ आप बड़े भाई हैं. मेरी तबियत थोड़ी ठीक नहीं है. क्या करना है बताइए. हम करके घर जाएंगे. तभी उसने अचानक मेरा हाथ पकड़ा और कहा मैडम थोड़ा रोल प्ले करें. मैं हैरान थी. तब से यह रोजाना होने लगा. मेरे साथ बार-बार छेड़छाड़ हुई. एक दिन ओला कि टीम से हमारी मीटिंग हो रही थी. अचानक अरुणाभ मीटिंग से उठकर अंदर चला गया. उसने मुझे आवाज दी. मैं अंदर गई तो उसने कहा- कम समय है, थोड़ा जल्दी में करते हैं. मैं आवाक उसे देखती रही.

Related Post:  मुंबई क्राइम ब्रांच करेगी अब डॉक्टर पायल तड़वी की मौत की जांच, तीनों आरोपी डॉक्टर के ख़िलाफ़ सबूत सामने आए

इसके बाद मैंने उससे कहा कि मैं पुलिस के पास जाऊंगी. इस पर उसने कहा- पुलिस तो मेरी जेब में है. इस पर मैंने कई सीनियर अफसरों से भी बात की, लेकिन किसी ने भी मेरी मदद नहीं की. पीड़िता ने अपने ब्लॉग में लिखा है कि उसकी और अरुणाभ कुमार की मुलाकात मुंबई के एक कैफे में साल 2014 में हुई थी. अरुणाभ ने उसको अपनी कंपनी में नौकरी दे दी. पीड़िता और अरुणाभ बिहार के एक ही शहर से हैं. उसे लगा कि उसे अरुणाभ से मदद मिलेगी, लेकिन जॉब के 21 दिन के अंदर ही ये सबकुछ उसके साथ हो गया.

आईआईटी क्लासमेट ने भी लगाया आरोप –
आईआईटी खड़गपुर में उसके साथ पढ़ने वाली एक लड़की ने भी अरुणाभ पर अश्लीलता का आरोप लगा हैं. उसने हिन्दी वेबसाइट द क्विन्ट से कहा- साल 2012 में मुंबई में मेरे साथ ये घटना घटी थी. हम दोनों कॉफी पीने के लिए एक साथ गए थे. उस समय अरुणाभ ने मुझसे कहा- ‘क्या तुम मेरे साथ मेरे घर चलोगी और डांस करोगी.’ मैं हैरान थी. उसने मुझसे कहा कि मैं न्यूड होकर उसके सामने डांस करूं.

पडोसी का भी आरोप –
क्लासमेट के अलावा अरुणाभ कुमार की एक पड़ोसी ने भी लिखा है- एक दिन मैं उसके स्टूडियो के बाहर फोन पर बात कर रही थी. उसने मुझे आवाज दी और अंदर बुलाया. मैं स्माइल दिया और टहलने लगी. इसके बाद उसने मुझसे कहा कि मैं रत्नागिरी गया था. वहां से आम लेकर आया है. उसने मुझसे पूछा कि क्या मैं ये खाऊंगी? इस दौरान वह मेरे पूरे बदन को सहलाने की कोशिश कर रहा था. मैं डर गई. उसे ना कहा और एक घूसा देकर वहां से भाग निकली. वह उसका इरादा भाप चुकी थी कि वह मुझसे क्या चाहता था.

Related Post:  शिमला: बीजेपी युवा मोर्चा के दो नेताओं का अश्लील वीडियो वायरल, सीएम ने किया बर्खास्त

TVF मेंबर ने आरोप का किया खंडन- 
अरुणाभ कुमार पर लगे छेड़छाड़ के इन आरोपों पर TVF की कोर टीम मेंबर निधि बिष्ट ने फेसबुक पर लिखा है- ‘महिलाओं के लिए काम करने के लिए TVF बेहतरीन स्थानों में से एक है. मेरे साथ टीम TVF और खासकर अरुणाभ बेहद सम्मान के साथ पेश आते हैं. बेशक इसका मतलब यह नहीं है कि हर किसी का अनुभव ऐसा ही हो. 24 घंटे पहले जब पहला ब्लॉग आया, तो मैंने इसे पूरी तरह से खारिज कर दिया. मैंने जांच की, लेकिन पीड़िता का ऑफिस में कोई रिकॉर्ड नहीं मिला. उसके आरोप पूरी तरह निराधार और बेबुनियाद हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Input your search keywords and press Enter.