fbpx
Now Reading:
यू ट्यूब वीडियो देखकर दोस्त के किए थे 500 टुकड़े, फिर क़त्ल छुपाने के लिए बनाई कहानी
Full Article 5 minutes read

यू ट्यूब वीडियो देखकर दोस्त के किए थे 500 टुकड़े, फिर क़त्ल छुपाने के लिए बनाई कहानी

मुंबई: मुंबई से सटे विरार में पैसों के लेनदेन को लेकर हत्या करने और फिर लाश के पांच सौ से ज्यादा टुकड़े करने के मामले में पुलिस को चौंकाने वाली जानकारी हाथ लगी है. पुलिस की पूछताछ में आरोपी पिंटू शर्मा ने जो खुलासे किये हैं उसे सुनकर पुलिस के भी होश उड़ गए.

साठ हजार रूपये के लिए इस घिनौनी वारदात को अंजाम देने वाले पिंटू शर्मा ने इकबालिया जुर्म मे कहा है कि गणेश कोलटकर की हत्या करने से पहले उसने सहायक पुलिस निरीक्षक अश्विनी बिदरे गोरे की हत्या से जुडी अहम जानकारियां इकठ्ठा की थी. जिससे आसानी से पुलिस को गुमराह किया जा सके. क्योंकि अश्विनी बिदरे गोरे मर्डर केस की गुत्थी सुलझाने के लिए पुलिस को नाकों चने चबाने पड़े थे. इसके साथ ही उसने एक यूट्यूब विडिओ का भी जिक्र किया जिसमे बताया गया था कि मानव शरीर को छोटे छोटे टुकड़े कैसे करें.

वहीं सूत्रों के हवाले से कहा जा रहा है की मुंबई यूनिवर्सिटी से मानव शरीर रचना और क्रिया विज्ञान में किये गए एक सार्टिफिकेट कोर्स से भी पिंटू शर्मा को इस वारदात को अंजाम देने में मदद मिली. क्योकि उसे मानव कंकाल-तंत्र के बारे में अच्छी जानकारी थी. बताया जा रहा है कि अपने घिनौने मंसूबे को अंजाम देने के लिए पिंटू ने मुंबई के सांताक्रूज़ इलाके की एक दूकान से एक बड़ा सा छुरा और उसे तेज करने वाला पत्थर भी खरीदा था.

Related Post:  BJP कार्यकर्ता की गुंडागर्दी, सरेआम महिलाओं को पीटा, बुरी तरह जख्मी हुई महिला

दरअसल मीरा रोड के रहने वाले गणेश कोलटकर की दोस्ती एक साल पहले सांताक्रुज के रहने वाले पिंटू किशन शर्मा के साथ हुई. गणेश प्रिंटिंग प्रेस चलता था जबकि पिंटू मार्केटिंग का काम करता था.जानकारी के मुताबिक पिंटू ने एक साल पहले गणेश को 1 लाख रुपये नकद दिए थे जिसमे से गणेश ने 40 हजार रुपये पिंटू को लौटा दिए थे.लेकिन बाकी की रकम को लेकर दोनों में अक्सर झगड़ा भी होता था. जिसके चलते एक दिन पिंटू शर्मा ने गणेश को रास्ते से हटाने की ठान ली क्योंकि उसे लगने लगा था कि पिंटू अब उसके पैसे नहीं लौटायेगा.

इसी उधेड़बुन में लगे पिंटू ने अपने मंसूबों को अंजाम देने के लिए विरार के ग्लोबल सिटी में एक फ्लैट किराये पर लिया और गणेश को वहां बुलाया. जहाँ दोनों में पैसों को लेकर कहा सुनी बहस हुई और धक्का मुक्की में गणेश जमीन पर गिर गया, जिससे उसकी मौत हो गयी. जिसके बाद गणेश की लाश को छुपाने के लिए पिंटू ने लगातार दो दिन लाश के टुकड़े किये और शौचालय में फ्लश कर दिए.वहीं जब बजराज पैराडाइज सोसायटी के सेप्टिक टैंक से बदबू आने और शव के टुकड़े मिलने के बाद मामला पुलिस तक पहुंचा तो पुलिस ने मामला दर्ज होने के महज दस घंटे बाद ही पिंटू शर्मा को गिरफ्तार कर लिया.

Related Post:  कार एक्सीडेंट में बाल-बाल बची ईशा गुप्ता, मुंबई पुलिस से मांगी मदद

मुंबई से सटे विरार में पैसों के लेनदेन को लेकर हत्या करने और फिर लाश के पांच सौ से ज्यादा टुकड़े करने के मामले में पुलिस को चौंकाने वाली जानकारी हाथ लगी है. पुलिस की पूछताछ में आरोपी पिंटू शर्मा ने जो खुलासे किये हैं उसे सुनकर पुलिस के भी होश उड़ गए.

साठ हजार रूपये के लिए इस घिनौनी वारदात को अंजाम देने वाले पिंटू शर्मा ने इकबालिया जुर्म मे कहा है कि गणेश कोलटकर की हत्या करने से पहले उसने सहायक पुलिस निरीक्षक अश्विनी बिदरे गोरे की हत्या से जुडी अहम जानकारियां इकठ्ठा की थी. जिससे आसानी से पुलिस को गुमराह किया जा सके. क्योंकि अश्विनी बिदरे गोरे मर्डर केस की गुत्थी सुलझाने के लिए पुलिस को नाकों चने चबाने पड़े थे. इसके साथ ही उसने एक यूट्यूब विडिओ का भी जिक्र किया जिसमे बताया गया था कि मानव शरीर को छोटे छोटे टुकड़े कैसे करें.

वहीं सूत्रों के हवाले से कहा जा रहा है की मुंबई यूनिवर्सिटी से मानव शरीर रचना और क्रिया विज्ञान में किये गए एक सार्टिफिकेट कोर्स से भी पिंटू शर्मा को इस वारदात को अंजाम देने में मदद मिली. क्योकि उसे मानव कंकाल-तंत्र के बारे में अच्छी जानकारी थी. बताया जा रहा है कि अपने घिनौने मंसूबे को अंजाम देने के लिए पिंटू ने मुंबई के सांताक्रूज़ इलाके की एक दूकान से एक बड़ा सा छुरा और उसे तेज करने वाला पत्थर भी खरीदा था.

Related Post:  ग्रेटर नोएडा के शारदा अस्पताल की छत पर ख़ुदकुशी करने पहुंची थी लड़की, एक फ़रिश्ते ने बचाई जान

दरअसल मीरा रोड के रहने वाले गणेश कोलटकर की दोस्ती एक साल पहले सांताक्रुज के रहने वाले पिंटू किशन शर्मा के साथ हुई. गणेश प्रिंटिंग प्रेस चलता था जबकि पिंटू मार्केटिंग का काम करता था.जानकारी के मुताबिक पिंटू ने एक साल पहले गणेश को 1 लाख रुपये नकद दिए थे जिसमे से गणेश ने 40 हजार रुपये पिंटू को लौटा दिए थे.लेकिन बाकी की रकम को लेकर दोनों में अक्सर झगड़ा भी होता था. जिसके चलते एक दिन पिंटू शर्मा ने गणेश को रास्ते से हटाने की ठान ली क्योंकि उसे लगने लगा था कि पिंटू अब उसके पैसे नहीं लौटायेगा.

इसी उधेड़बुन में लगे पिंटू ने अपने मंसूबों को अंजाम देने के लिए विरार के ग्लोबल सिटी में एक फ्लैट किराये पर लिया और गणेश को वहां बुलाया. जहाँ दोनों में पैसों को लेकर कहा सुनी बहस हुई और धक्का मुक्की में गणेश जमीन पर गिर गया, जिससे उसकी मौत हो गयी. जिसके बाद गणेश की लाश को छुपाने के लिए पिंटू ने लगातार दो दिन लाश के टुकड़े किये और शौचालय में फ्लश कर दिए.वहीं जब बजराज पैराडाइज सोसायटी के सेप्टिक टैंक से बदबू आने और शव के टुकड़े मिलने के बाद मामला पुलिस तक पहुंचा तो पुलिस ने मामला दर्ज होने के महज दस घंटे बाद ही पिंटू शर्मा को गिरफ्तार कर लिया.

Input your search keywords and press Enter.