fbpx
आडवानी बड़े या भागवत

आडवानी बड़े या भागवत

दरअसल मानसिक उलझन भाजपा में कम है, राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ में ज़्यादा है. ऐसा नहीं है कि यह उलझन आज पैदा हुई है, यह उलझन तो सालों पुरानी है. राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ और भाजपा दोनों ही अपनी मानसिक...

भाजपा का बचना जरूरी

भाजपा का बचना जरूरी

भारतीय जनता पार्टी शिमला में चिंतन बैठक के बाद पहले से ज़्यादा चिंतित, भ्रमित, असंगठित, दिशाहीन और बिखड़ी हुई नज़र आ रही है. चिंतन बैठक की आग से तप कर निकलने के बजाय पार्टी अब अपनी छवि को लेकर चिंतित...

मार्च में छह दिसंबर दुहराने की साज़िश

मार्च में छह दिसंबर दुहराने की साज़िश

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) एक बार फिर अयोध्या स्थित राम जन्मभूमि निर्माण मुद्दे को गरमाना चाहती है. अपनी खोती जा रही राजनैतिक पकड़ को मज़बूत करने के लिए वह राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के ज़रिए 16 मार्च 2010 से इस...

हमें मौत दे दीजिए मुख्यमंत्री जी

हमें मौत दे दीजिए मुख्यमंत्री जी

बुंदेलखंड में पड़े सूखे और भूख के कारण अब किसानों में आत्महत्याओं का दौर शुरू हो गया है. पिछले दो हफ़्तों में भुखमरी के शिकार चार किसानों ने आत्महत्या करके और आने वाले चंद दिनों में डेढ़ दर्जन किसानों ने...

अपने हक़ की ल़डाई ल़ड रहे हैं बलूच

अपने हक़ की ल़डाई ल़ड रहे हैं बलूच

तीन अगस्त को पूरा बलूचिस्तान मानो थम-सा गया. दो अगस्त को पाकिस्तान की सेना की कार्रवाई और बलूच नेताओं की गिरफ़्तारी के ख़िला़फ बलूच रिपब्लिकन पार्टी ने बंद का एलान किया था.

हिंदुस्तान, पाकिस्तान और बलूचिस्तान

हिंदुस्तान, पाकिस्तान और बलूचिस्तान

प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने पाकिस्तान पर ऐतिहासिक कूटनीतिक जीत हासिल की है. पाकिस्तान ने मुंबई हमले पर अपनी जांच की पूरी रिपोर्ट 11 जुलाई को भारत को सौंपी है

ऐसे फैलता है आतंकवाद

ऐसे फैलता है आतंकवाद

आर्थिक असमानता, बेरोज़गारी, जनसंख्या विस्फोट, सामाजिक बहिष्कार , अतिवाद, नस्लीय अल्पसंख्यकों का दमन, जनजातीय वाद और धार्मिक व राजनीतिक दमन को अगर नहीं सुलझाया गया तो हथियारबंद हिंसा जन्म ले सकती है.

संसद, सर्वोच्च न्यायालय और सबसे बड़ी सेक्स मंडी

संसद, सर्वोच्च न्यायालय और सबसे बड़ी सेक्स मंडी

लगता है केंद्र सरकार को धारा 377 हटाने की जल्दबाज़ी है. दिल्ली हाईकोर्ट के फैसले के बाद यह मामला सुप्रीम कोर्ट पहुंच चुका है. वैसे तो, नेता और अधिकारी कोर्ट में लंबित मामले पर अपनी ज़ुबान खोलने से बचते हैं

सिख दंगों का सबक याद रहेंगा

सिख दंगों का सबक याद रहेंगा

इंदिरा गांधी की हत्या के तीन दिन बाद 31 अक्टूबर 1984, दिल्ली की तत्कालीन सरकार और प्रशासनिक तंत्र ने पूरी तरह से घुटने टेक दिए थे. गुस्साए हथियार से लैस और संगठित प्रदर्शनकारियों ने गलियों में आग लगा दी

संसद, सर्वोच्च न्यायालय और सबसे बड़ी सेक्स मंडी

संसद, सर्वोच्च न्यायालय और सबसे बड़ी सेक्स मंडी

सन साठ के दशक में अमेरिका में कई नई बातें हुईं, जिनमें एक था वहां पर ड्रग्स का फैलाव. इसने तेज़ी से नौजवानों को अपने जाल में जकड़ना शुरू किया. ड्रग्स, यानी नशीली दवाओं के कई प्रकार सामने आए. लेकिन...

लालगढ़ की लाल लपटें

लालगढ़ की लाल लपटें

लालगढ़ में मानो हवा भी सहम कर बह रही है. पूरे देश की नज़र का केंद्र बने लालगढ़ में सन्नाटा पसरा है. समस्या की जड़ तक पहुंचने के बजाय सियासत की बाज़ी खेली जा रही है. केंद्र सरकार ने सीपीआई...

उच्च शिक्षा में उच्च स्तर की घपलेबाज़ी

उच्च शिक्षा में उच्च स्तर की घपलेबाज़ी

देश में उच्च शिक्षा में उच्च स्तर पर घपलेबाज़ी का बड़ा खेल चल रहा है. कॉलेजों-विश्वविद्यालयों के लिए माई-बाप समझी जाने वाली संस्था-विश्वविद्यालय अनुदान आयोग यानी यूजीसी-ने बड़े पैमाने पर निजी संस्थानों को समकक्ष यानी डीम्ड यूनिवर्सिटी का दर्जा देकर...

सोनिया जी, अब अपने मंत्रिमंडल पर नज़र डालिए

सोनिया जी, अब अपने मंत्रिमंडल पर नज़र डालिए

नई सरकार में शामिल 79 मंत्रियों के मंत्रालयों की घोषणा पिछले दिनों कर दी गई. यह संख्या संवैधानिक सीमा से बस तीन ही कम है. यानी हमारे संविधान के मुताबिक वर्तमान में अधिक से अधिक 82 मंत्री हो सकते हैं.

तालिबान ही नहीं है अकेला मुजरिम

ये लोग युद्ध के ही लायक हैं, क्योंकि उन्होंने हमारे संविधान को ख़ारिज़ किया है, क्योंकि उन्होंने उन मूल्यों को नकारा है जिन पर पाकिस्तान की स्थापना हुई थी, क्योंकि वे एक अलग न्यायिक व्यवस्था अनिच्छुक नागरिकों के गले उतारना...

ऐसे बनी मनमोहन की सरकार

ऐसे बनी मनमोहन की सरकार

यह इतिहास का वह पन्ना है, जिसके बारे में केवल चंद लोग जानते हैं। उनमें से दो अब इस दुनिया में नहीं हैं। इस पन्ने में 2004 में कांग्रेस की सरकार कैसे बनी, उसकी कहानी है।

बोफोर्स घोटाले में क्वात्रोची अपनी अति चालाकी के कारण स्वयं ही फंस गया

बोफोर्स घोटाले में क्वात्रोची अपनी अति चालाकी के कारण स्वयं ही फंस गया

पिछले सालों में भारत में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सबसे मशहूर रहे कांड का नाम बोफोर्स कांड है. इस कांड ने राजीव गांधी सरकार

कांग्रेस जानबूझ कर हारना चाहती है

कांग्रेस जानबूझ कर हारना चाहती है

कांग्रेस क्या जानबूझ कर चुनाव हारना चाहती है? यह सवाल भारतीय राजनीति की परीक्षा का अनिवार्य प्रश्न है, जिसका उत्तर देना ही होगा. और इसी के सही उत्तर पर पंद्रहवीं लोकसभा और नई बनने वाली सरकार का बीजगणित हल हो...

पहला ही दहला

पहला ही दहला

पहला आम चुनाव देश में अब तक का सबसे बड़ा और महत्वपूर्ण आयोजन था. वह 1952 में हुआ था. तब से आम चुनाव के 14 दौर पूरे हो चुके हैं, लेकिन लोकतंत्र का सही लाभ समाज के अंतिम आदमी तक...

भाजपा को महंगी पड़ेगी आडवाणी और जोशी की अटल जंग

भाजपा को महंगी पड़ेगी आडवाणी और जोशी की अटल जंग

लोकसभा चुनाव की तैयारी के बीच भारतीय जनता पार्टी के दो नेताओं के बीच वर्चस्व की लड़ाई चल रही है. एक प्रधानमंत्री बनना चाहता है, तो दूसरा उन्हें उसे कुर्सी से दूर रखने के लिए चक्रव्यूह रच रहा है.,आंडवाणी और...

ये आजमगढ़ है, आतंकगढ़ नहीं

ये आजमगढ़ है, आतंकगढ़ नहीं

पांच महीने बीत जाने के बाद भी जब संदेहास्पद बाटला हाउस एनकाउंटर की पोस्टमार्टम रिपोर्ट जारी नहीं की गई, तो सूचना के अधिकार के तहत पूछे जाने पर दफा 81 के तहत सूचना पर अदालती प्रतिबंध की झूठी सूचना दी...

ऐसी लोकसभा मत चुनिए

ऐसी लोकसभा मत चुनिए

हम ख़तरे में हैं और विडंबना है कि हमें ख़तरे का पता भी नहीं है. जिन पर ख़तरे की चेतावनी देने की जिम्मेवारी है, वे खुद ख़तरा पैदा करने वालों में बदल चुके हैं. 2009 का संसद का चुनाव देश...

बीजेपी-की सरकार बनाना चाहता है- मोसाद

बीजेपी-की सरकार बनाना चाहता है- मोसाद

इज़रायल की खुफिया एजेंसी मोसाद भारत में बीजेपी की सरकार बनाना चाहती है. खुफिया सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार मोसाद ने भारत में फैले अपने नेटवर्क को चुनाव में बीजेपी और संघ परिवार की मदद के लिए लगा दिया...

Input your search keywords and press Enter.