fbpx
Now Reading:
मुजफ्फरपुर शेल्टर रेप केस: स्वाति मालीवाल ने पत्र लिखकर नीतीश से किए सवाल

मुजफ्फरपुर शेल्टर रेप केस: स्वाति मालीवाल ने पत्र लिखकर नीतीश से किए सवाल

swati-malawala

swati-malawala

मुजफ्फरपुर के शेल्टर होम में 34 लड़कियों के रेप के मामले में दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को मुजफ्फरपुर शेल्टर रेप केस को लेकर एक पत्र लिखा है जिसमें उन्होंने नीतीश कुमार से कई सवाल किए हैं। यह पत्र दो पन्नों का है जिसमें स्वाति ने नितीश पर सवालों की बौछार इस केस से जुड़े हुए कई अहम सवाल पूछे हैं.

स्वाति मालीवाल ने लिखा है कि नीतीश कुमार जी, सर आज फिर मैं रात में ठीक तरह से सो नही पाई. बालिका गृह की बेटियों की चीखें मुझे कई दिनों से सोने नहीं देती. उनके दर्द के सामने पूरे देश का सर शर्म से झुक गया है. मैं चाह कर भी उस दर्द को अपने आप से अलग नही कर पा रही हूँ और इसलिए आपको यह पत्र लिख रही हूँ. मैं जानती हूँ कि बिहार मेरे कार्यक्षेत्र में नहीं आता, पर देश की एक महिला होने के नाते मैं ये पत्र लिख रही हूँ. आशा है आप मेरा यह पत्र जरूर पढेंगे.

Related Post:  बिहार में बच्चों की मौत के बीच चिकित्सक हड़ताल पर, ओपीडी सेवा बाधित, लौटाये जा रहे मरीज

यह भी पढ़ें : मारा गया फारूक अब्दुल्ला के घर पर हमला करने वाला शख्स, ऐसे हुआ था अन्दर दाखिल

मुजफ्फरपुर की कहानी शायद इस दुनिया की सबसे भयावह कहानियों में से एक हैं। यहां कम से कम 34 लड़कियों के साथ बार-बार रेप किया गया और कुछ का मर्डर कर के बालिका गृह में ही दफना दिया गया। लड़कियां सिर्फ सात से 14 साल की थीं और अधिकतर अनाथ थीं किस तरह‘स्वयं सेवी संगठन का मालिक ब्रजेश ठाकुर नाम का हैवान एवं कई अफसर और नेता रोज रात में उनके साथ दुष्कर्म करते थे.

Related Post:  बिहार में जारी है गुंडाराज: अपराधियों ने मुजफ्फरपुर में दो राजद नेताओं को सरेआम मारी गोली, एक की हालत गंभीर

मुझे बहुत दुख है कि आपकी सरकार ने तीन महीने तक इस रिपोर्ट पर कोई एक्शन नहीं लिया. मैं बार-बार यह सोच कर परेशान हो रही हूँ कि उन लड़कियों का अब क्या हाल है. जिस सरकार द्वारा उन्हें न्याय नही मिला, क्या वह सरकार उनका अब ख्याल रखने में सक्षम है, क्या अब उनके बेहतर भविष्य के लिए कोई कार्य हो रहा है, क्या उनको एक अच्छे स्कूल भेजा जाना शुरू हो गया है.

Related Post:  बिहार में 106 बच्‍चों की मौत के बाद जागी सरकार, केंद्रीय मंत्री पहुंचे तो नीतीश ने भी की घोषणा

उनके खाने-पीने, खेलने-कूदने के बेहतर प्रबन्धन हुए हैं, क्या उन्हें मनोचिकित्सक की मदद दी जा रही है, क्या उनका स्वास्थ्य अब बेहतर है, क्या उनके आस-पास का वातावरण अब सुरक्षित और खुशहाल है, क्या उनको अपने बयान बदलने के लिए कोई दबाव तो नही बना रहा है. बिहार सरकार इन लड़कियों के हित में क्या कदम उठा रही है, उन लड़कियों के बेहतर कल के लिए मैं और हमारा पूरा आयोग अपनी पूरी जान लगाने के लिए तैयार हैं और हर मदद के लिए तैयार हैं. देश में हम जैसे लाखों लोग उन बच्चियों की मदद करना चाहते हैं. मैं आपके जवाब का इंतजार करूंगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Input your search keywords and press Enter.