fbpx

Tag: आतंकवाद

पाकिस्तान में नवाज शरीफ का राज: बहेगी अमन की बयार !

पाकिस्तान में नवाज शरीफ का राज: बहेगी अमन की बयार !

पाकिस्तान में ऐसा पहली बार हो रहा है, जब कोई व्यक्ति, यानी नवाज शरीफ तीसरी बार प्रधानमंत्री बन रहे हों. चुनावी जंग तो उन्होंने जीत ली, लेकिन उन्हें अंदरूनी कलह, आतंकवाद और कश्मीर मुद्दे पर भी सोचना होगा. भारत के...

अंतहीन युद्ध

अंतहीन युद्ध

आतंकवाद के ख़िलाफ़ युद्ध कोई नई बात नहीं है. आतंकवाद आज पूरी दुनिया के लिए एक बड़ी समस्या है. इसके विरुद्ध संघर्ष की शुरुआत कब, कहां और कैसे हुई, इसी पर रोशनी डाल रही है यह टिप्पणी. शीत युद्ध की समाप्ति...

नवाज से उम्मीद क्यों करनी चाहिए ?

नवाज से उम्मीद क्यों करनी चाहिए ?

नवाज़ शरीफ़ के प्रधानमंत्री बनने से भारत को क्या फ़ायदा होने वाला है? क्या नवाज़ शरीफ़ भारत के साथ अच्छे संबंध बनाने का प्रयास करेंगे और अगर करेंगे, तो क्यों? क्या नवाज़ शरीफ़ भारत के प्रति नरम रुख़ रखते हैं...

सॉफ्ट नहीं, सॉफ्टर कहिए जनाब

सॉफ्ट नहीं, सॉफ्टर कहिए जनाब

बोस्टन और बंगलुरू में बम धमाके हुए. 9/11 के 12 साल बाद हुई यह घटना अमेरिका की आतंकवाद विरोधी पुलिस के लिए एक सदमा थी. जिन लोगों ने इस धमाके की योजना बनाई थी, उनका मक़सद अधिक से अधिक नुक़सान...

मुलायम से परेशान मुसलमान

मुलायम से परेशान मुसलमान

बीते दिनों सपा प्रमुख मुलायम सिंह यादव ने अपने एक बयान में कहा कि उनकी सरकार ने उत्तर प्रदेश की विभिन्न जेलों में बंद उन 400 से अधिक निर्दोष मुस्लिम नौजवानों को रिहा कर दिया है, जिन्हें आतंकवाद के आरोप...

अफगानिस्‍तानः रणनीति पर पुनर्विचार की जरूरत है

अफगानिस्‍तानः रणनीति पर पुनर्विचार की जरूरत है

अफग़ानिस्तान में तालिबान का असर कम होता नहीं दिखाई पड़ रहा है. यहां छिटपुट हमले तो होते ही रहते हैं, लेकिन इस बीच एक बड़ा हमला हुआ, जो अ़फग़ानिस्तान की वर्तमान स्थिति और इसके भविष्य के बारे में पुनर्विचार करने...

एनसीटीसी : इस जल्दबाज़ी की वजह क्या है

एनसीटीसी : इस जल्दबाज़ी की वजह क्या है

एनसीटीसी के गठन के पीछे क्या वाकई देश की सुरक्षा की चिंता है या फिर यह कांग्रेस की विपक्षी पार्टियों और नेताओं, ख़ासकर गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी एवं पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर शिकंजा कसने की कोई...

विवाद में फंसी पाकिस्तान सरकार

विवाद में फंसी पाकिस्तान सरकार

पाकिस्तान और विवाद का चोली दामन का रिश्ता है. कभी उसे आतंकवाद को समर्थन देने के आरोपों का सामना करना पड़ता है, तो कभी सेना और सरकार के बीच के तनाव के कारण लोकतंत्र ही खतरे में पड़ता मालूम होता...

सिर्फ़ उत्तर प्रदेश में नहीं हो रहे चुनाव

पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव होने हैं, लेकिन ताज्जुब की बात है कि मीडिया में सबसे ज़्यादा ख़बरें स़िर्फ उत्तर प्रदेश से ही आ रही हैं. मानों मणिपुर या गोवा देश के लोगों के लिए महत्वपूर्ण नहीं है.

मणिपुर: कांग्रेस की राह आसान नहीं

देश में गठबंधन की राजनीति और राजनीतिक दलों का एक साथ मिलकर चुनाव लड़ना कोई नई बात नहीं है, लेकिन 60 सदस्यीय विधानसभा वाले मणिपुर में, जहां आगामी 28 जनवरी को मतदान होना है, गठबंधन का ऐसा खेल खेला जा...

भारत-मालदीव : बेहतर संबंध बनाने की क़वायद

हिन्द महासागर में अपनी स्थिति मज़बूत करने और दक्षिण एशिया में चीन के बढ़ते प्रभाव को रोकने के लिए भारत के लिए यह ज़रूरी है कि वह अपने पड़ोसियों को विश्वास में ले. मालदीव के साथ हाल में हुआ समझौता...

आतंकवाद से लड़ने वाली सबसे बड़ी एजेंसी : एन आई ए का सच

आतंकवाद से लड़ने वाली सबसे बड़ी एजेंसी : एन आई ए का सच

गृहमंत्री पी चिदंबरम ने नॉर्थ ब्लॉक में बैठे बाबुओं और नौकरशाहों को ज़रिया बनाकर देश की आंतरिक सुरक्षा को भी सियासत का खेल बना दिया है. आप इसकी त्रासद बानगी देखना चाहें तो एनआईए यानी राष्ट्रीय जांच एजेंसी पर नज़र...

कमल मोरारका का ब्लॉग : पुलिस तंत्र मे सुधार समय की मांग है

कमल मोरारका का ब्लॉग : पुलिस तंत्र मे सुधार समय की मांग है

दिल्ली हाईकोर्ट के निकट हुए बम विस्फोट ने एक बार फिर से एक बड़े खतरे के तौर पर आतंकवाद की ओर लोगों का ध्यान खींचा है. इसी तरह के बम विस्फोट मुंबई, पुणे एवं जयपुर आदि शहरों में भी हुए...

पूरे तंत्र को सुधारने की ज़रूरत है

बार-बार कहने के बावजूद सरकार के कानों पर जूं नहीं रेंग रही है. सरकार से मतलब सिर्फ मंत्री नहीं, बल्कि सरकार से मतलब पूरा सिस्टम, दारोगा से लेकर गृह सचिव तक. ये सब नशे की गोली खाकर सो रहे हैं...

सरकार चुप क्यों है

सरकार चुप क्यों है

26 नवंबर, 2008 की त्रासदी को मुंबई के लोग अभी भूल भी नहीं पाए थे कि 13 जुलाई, 2011 को फिर से दिल दहला देने वाली घटना घट गई. महाराष्ट्र में कांग्रेस की सरकार है, इसलिए कौन वहां की क़ानून...

पाकिस्तान : सामंतवादी तंत्र की हकीकत

पाकिस्तान : सामंतवादी तंत्र की हकीकत

फ्यूडलिज्म या सामंतवादी तंत्र एक सोच का नाम है. एक ऐसे व्यक्ति की सोच, जो दूसरों को अपने मुक़ाबले तुच्छ मानता हो और उनका हक़ छीनना जायज़ समझता हो. ऐसी नकारात्मक सोच और चिंता रखने वाले वर्ग सामंतवादी तंत्र को...

जम्‍मू-कश्‍मीरः पंचायत चुनाव ने उम्‍मीद जगाई

जम्‍मू-कश्‍मीरः पंचायत चुनाव ने उम्‍मीद जगाई

हाल में जम्मू-कश्मीर में संपन्न हुए पंचायत चुनाव से राज्य में एक नई बयार देखने को मिली. बड़ी तादाद में घरों से निकल कर लोगों ने मतदान करके न स़िर्फ लोकतंत्र में अपनी आस्था व्यक्त की, बल्कि चुनाव बहिष्कार करने...

इलियास का इफेक्‍ट

इलियास का इफेक्‍ट

पहले अल क़ायदा प्रमुख ओसामा बिन लादेन, फिर उसके सक्रिय सदस्य इलियास कश्मीरी का मारा जाना और अब पाकिस्तान में धड़ाधड़ हो रहे बम धमाकों ने सबको सकते में डाल दिया है. पता नहीं पाकिस्तान को अब भी इस बात...

आतंक का चक्रव्यूह

आतंक का चक्रव्यूह

दो मई की सुबह दुनिया के सबसे खूंखार आतंकवादी ओसामा बिन लादेन को पाकिस्तान में मार गिराए जाने के बाद यह बात साफ हो गई कि पाकिस्तान में आतंकियों को लंबे समय से पनाह मिल रही है. लादेन की मौत...

यूरोपीय शीष्टमंडल और हुर्रियत की लादेनपरस्ती

यूरोपीय शीष्टमंडल और हुर्रियत की लादेनपरस्ती

हुर्रियत कांफ्रेंस की लादेनपरस्ती ने उसे एक बार फिर कठघरे में खड़ा किया है. कश्मीर यात्रा पर आए यूरोपीय संघ के शिष्टमंडल की गतिविधियों से तो यही लगता है. यूरोपीय संघ के राजनयिकों द्वारा हुर्रियत कांफ्रेंस के नेता सैयद अली...

अफगानिस्‍तानः एशिया में भारत की कुंजी

अफगानिस्‍तानः एशिया में भारत की कुंजी

ओसामा के मारे जाने के बाद भारतीय उपमहाद्वीप की राजनीति में कई महत्वपूर्ण मोड़ आए हैं. वैसे ओसामा का मारा जाना ही ख़ुद में कोई ऐसी बड़ी अकेली घटना नहीं है, जिससे ये बदलाव आए हैं. असल मुद्दे इस बात...

क्या सचमुच न्याय हुआ?

क्या सचमुच न्याय हुआ?

क्या रावण के साथ न्याय हुआ था? उसने तो राम से अपनी बहन सूर्पनखा की नाक काटने का बदला लेना चाहा था और इसलिए सीता को अगवा किया. क्या यह कारण इतना बड़ा था कि लंका नगरी को ही तबाह...

अमेरिकी पहाड़ के निचे पाकिस्तानी ऊंट

अमेरिकी पहाड़ के निचे पाकिस्तानी ऊंट

सतही कूटनीति के सहारे ख़ुद को दबंग समझने वाले पाकिस्तान को अब उसकी हैसियत का अंदाजा लग जाएगा, क्योंकि कथित रूप से दुनिया के वास्तविक दबंग माने जाने वाले अमेरिका की नज़रें उस पर टेढ़ी हो गई हैं. इसका प्रमाण...

संतोष भारतीय को आफ़ताब-ए-सहाफ़त अवार्ड

संतोष भारतीय को आफ़ताब-ए-सहाफ़त अवार्ड

ऑल इंडिया तंज़ीम उलेमा-ए-हक़ द्वारा आयोजित आतंकवाद और सांप्रदायिकता के ख़िलाफ़ राष्ट्रीय एकता अधिवेशन का आयोजन नई दिल्ली के कांस्टीट्यूशन क्लब में किया गया, जिसमें उर्दू के पहले अंतरराष्ट्रीय साप्ताहिक चौथी दुनिया अख़बार के प्रधान संपादक संतोष भारतीय को उर्दू...

बिन लादेन और असीमानंद एक ही थैली के चट्टे-बट्टे

बिन लादेन और असीमानंद एक ही थैली के चट्टे-बट्टे

साधारण अपराधों की तुलना में आतंकी अपराधों की जांच कहीं अधिक कठिन होती है. इनमें बम फेंकने या गोली चलाने वालों के असली नियंत्रक रहस्य के आवरण में लिपटे रहते हैं और उन तक पहुंचना आसान नहीं होता.

आतंकवादी मानवता के दुश्मन हैं

हिंदू आतंकवाद, मुस्लिम आतंकवाद, संघ परिवार का आतंकवाद यह तीनों ही शब्द स्वामी असीमानंद के अपराध स्वीकारने के बाद से लगातार सुनने में आ रहे हैं. एक अख़बार ने शीर्षक लगाया, असीमानंद के अपराध स्वीकारने से इस्लाम और मुसलमानों को...

पाकिस्‍तानः संकट में साख

पाकिस्‍तानः संकट में साख

यूं तो विभिन्न मसलों पर पाकिस्तान को अक्सर विश्व मंच पर किरकिरी झेलनी पड़ती है, लेकिन पंजाब प्रांत के गवर्नर सलमान तासीर की हत्या ने इसकी बची-खुची साख को भी संकट में डाल दिया है.

पाकिस्‍तान की उम्‍मीदों पर रूस का पानी

पाकिस्‍तान की उम्‍मीदों पर रूस का पानी

भारत और रूस के रिश्तों में पिछले 39 वर्षों के बीच आए तमाम उतार-चढ़ावों को देखते हुए पाकिस्तान को यह उम्मीद थी कि अपनी यात्रा के दौरान रूसी राष्ट्रपति दमित्री मेदवेदेव भारत के प्रति कोई खास दरियादिली नहीं दिखाएंगे, लेकिन...

यार का प्यार बेशुमार

यार का प्यार बेशुमार

भारत यात्रा के दौरान सरकोजी ने न्यूक्लियर सप्लायर्स ग्रुप (एनएसजी) में भी भारत के प्रवेश का समर्थन किया. उन्होंने दुनिया की अस्थिरता के लिए अ़फग़ानिस्तान-पाकिस्तान में पनप रहे आतंकवाद को ज़िम्मेदार ठहराया. उन्होंने साफ कहा कि फ्रांस भारत का दोस्त...

दिल्‍ली का बाबू : आईपीएस अधिकारियों की कमी

दिल्‍ली का बाबू : आईपीएस अधिकारियों की कमी

आतंकवाद और नक्सलवाद जैसी गंभीर समस्याओं के साथ-साथ कई अन्य परेशानियों से जूझ रहे भारत जैसे देश में आईपीएस अधिकारियों की कमी एक बड़ी चिंता का कारण है. आंकड़ों के मुताबिक़, वर्तमान समय में पूरे देश में आईपीएस अधिकारियों के...

Input your search keywords and press Enter.