EVONEWS

Tag: किसान

निर्मला सीतारमण के बाद बोले अश्विनी चौबे – मैं शाकाहारी आदमी, प्याज नहीं खाता, कीमत पर कैसे बोलूं

निर्मला सीतारमण के बाद बोले अश्विनी चौबे – मैं शाकाहारी आदमी, प्याज नहीं खाता, कीमत पर कैसे बोलूं

केंद्र की मोदी सरकार के लिए मानों प्याज  की कीमत से ज्यादा उनके मंत्रियों के बयान मुसीबत का सबब बन रहे हैं. शीतकालीन सत्र  के दौरान वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के बाद केंद्रीय मंत्री और बिहार से बीजेपी सांसद अश्विनी...

कर्ज के बोझ से परेशान किसान बेचना चाहता है किडनी, वीडियो बनाकर दिया विज्ञापन

कर्ज के बोझ से परेशान किसान बेचना चाहता है किडनी, वीडियो बनाकर दिया विज्ञापन

उत्तर प्रदेश में रामराज्य और अच्छे दिनों के वादे के साथ सत्ता में आई बीजेपी सरकार के तमाम दावे खोखले साबित हो रहे हैं. राज्य में किसानों के का बुरा हाल है. ज्यादातर किसान कर्ज के बोझ तले दबे हुए...

CM योगी की बड़ी घोषणा, कहा- मंडियों को अफसर नहीं किसान चलाएंगे

CM योगी की बड़ी घोषणा, कहा- मंडियों को अफसर नहीं किसान चलाएंगे

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को किसान पाठशाला में घोषणा की कि मंडियों को अफसर नहीं, बल्कि किसानों के चुने हुए प्रतिनिधि चलाएंगे। योगी ने यहां किसानों को संबोधित करते हुए कहा, “केंद्र व प्रदेश सरकार किसानों को समृद्घ...

कमलनाथ का बड़ा ऐलान, MP में किसानों पर दर्ज झूठे मुकदमे वापस लेगी सरकार

कमलनाथ का बड़ा ऐलान, MP में किसानों पर दर्ज झूठे मुकदमे वापस लेगी सरकार

भोपाल: मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने मंदसौर पुलिस गोलीकांड की दूसरी बरसी पर कहा कि किसानों पर दर्ज झूठे मुकदमे सरकार वापस लेगी. इस गोलीकांड में छह आंदोलनकारी किसानों की मौत हो गयी थी. कमलनाथ ने ट्वीट किया, “आज मंदसौर...

मोदी सरकार ने किसानों को दिया बड़ा तोहफा, मिलेंगे 6000 रूपये

मोदी सरकार ने किसानों को दिया बड़ा तोहफा, मिलेंगे 6000 रूपये

मोदी सरकार की पहली कैबिनेट मीटिंग में किसानों के हित में बड़े फैसले लिए गए. सरकार ने किसानों को राहत देते हुए किसान सम्मान योजना के विस्तार को मंजूरी दी. इस योजना से लगभग 14.5 करोड़ किसान लाभान्वित होंगे. बताया...

इस किसान की ठाट देखकर रह जाएंगे दंग, UK में लाखों की नकारी छोड़ चुना किसानी का रास्ता 

इस किसान की ठाट देखकर रह जाएंगे दंग, UK में लाखों की नकारी छोड़ चुना किसानी का रास्ता 

देश में अधिकतर युवाओं का सपना होता है कि पढ़लिख कर अच्छे पैकेज वाली नौकरी मिले और उसमें अगर विदेश में जाकर बसने का मौका मिल जाए तो बहुत बढ़िया. लेकिन कुछ ऐसे भी नौजवान हैं जो विदेश में बड़े पैकेज की नौकरी छोड़...

11 महीने पहले किया वादा निकला झूठा, नासिक से मुंबई मार्च पर फिर निकले 50 हजार किसान

11 महीने पहले किया वादा निकला झूठा, नासिक से मुंबई मार्च पर फिर निकले 50 हजार किसान

मुंबई: आज से ठीक 11 महीने पहले साल 2018 में नासिक से मुंबई तक हजारों किसान का विशाल मार्च निकला था. उस वक्त देवेंद्र फडणवीस के आश्वासन के बाद किसानों ने अपना मार्च वापस लौटा दिया था, लेकिन अब तक...

तो इस तारीख से प्रधानमंत्री मोदी भेजने लगेंगे किसानों के खाते में 2000 रूपये, मोदी का तोहफा

तो इस तारीख से प्रधानमंत्री मोदी भेजने लगेंगे किसानों के खाते में 2000 रूपये, मोदी का तोहफा

लोकसभा चुनाव से पहले मोदी सरकार बजट में किए लोकलुभावन एलानों को अभी से ही जमीन पर उतारने की तैयारी में जुट गई है. एक निजी टीवी चैनल की खबर के मुताबिक, 25 फरवरी को पीएम मोदी खुद किसानों के...

खेती-किसानी और उद्यमिता को नई दिशा दे रहा मोरारका फाउंडेशन

खेती-किसानी और उद्यमिता को नई दिशा दे रहा मोरारका फाउंडेशन

इसे पानी की कमी कहें या संसाधनों का अभाव, राजस्थान में खेती को हमेशा से ही घाटे का सौदा माना गया है. लेकिन वर्तमान समय में इस राज्य के एक बड़े क्षेत्र में किसानी मुनाफे का माध्यम बनती जा रही...

किसानों की आत्महत्या का सिलसिला शुरू

किसानों की आत्महत्या का सिलसिला शुरू

बिहार के किसान 2017 में आई बाढ़ की विभीषिका से उबर भी नहीं पाए थे कि बिना दाने वाले मक्के की फसल ने उनके समक्ष एक बड़ी परेशानी खड़ी कर दी है. बिहार के लगभग सभी जिलों में मक्का की...

शांतिपूर्ण किसान आन्दोलन, क्या ये तू़फान से पहले की शांति है

शांतिपूर्ण किसान आन्दोलन, क्या ये तू़फान से पहले की शांति है

200 किलोमीटर का लॉन्ग मार्च. इसके बावजूद सड़क पर न गन्दगी फैली और न शहरवालों की नींद हराम हुई. न बच्चों की परीक्षा में खलल पड़ा, न कोई खोमचा-ठेला वाला लूटा गया. ऐसा लॉन्ग मार्च, ऐसा आन्दोलन तो कोई सच्चा...

आंकड़ों का भ्रमजाल है बिहार का बजट

आंकड़ों का भ्रमजाल है बिहार का बजट

वित्त वर्ष 2018-19 के लिए बिहार का बजट विधानमंडल के दोनों सदनों में पेश कर दिया गया है. एक अप्रैल से आरंभ हो रहे वित्त वर्ष में सूबे की बेहतरी के लिए नीतीश कुमार की राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) की...

क्या सरकार शांतिपूर्ण किसान आन्दोलन को आन्दोलन नहीं मानती

क्या सरकार शांतिपूर्ण किसान आन्दोलन को आन्दोलन नहीं मानती

22 और 23 फरवरी को देश के अधिकतर हिस्सों में किसानों ने शांतिपूर्ण आंदोलन किया. इन शांतिपूर्ण आंदोलन कर रहे किसानों पर बहुत सारी जगहों पर पुलिस ने लाठीचार्ज किया. उन्हें गिरफ्तार किया और हर प्रकार से उनका रास्ता रोकने...

दिल्ली के दरवाज़े पर किसान, याचना नहीं संग्राम

दिल्ली के दरवाज़े पर किसान, याचना नहीं संग्राम

दिल्ली की सीमा पर किसान. उन्हें दिल्ली में न घुसने देने के लिए तैनात जवान. यही तस्वीर है आज जय जवान, जय किसान वाले देश की. इन सब के बीच दिल्ली के रायसीना हिल्स पर सरकार और लोकतंत्र का चौथा...

कर्ज का रकम जुटाने हेतु सरकारी कर्मियों के एक दिन का वेतन काटेगी सरकार

कर्ज का रकम जुटाने हेतु सरकारी कर्मियों के एक दिन का वेतन काटेगी सरकार

नई दिल्ली, (राजीव) : किसानों के कर्ज माफ़ी ने तोड़ी सरकार की कमर कर्ज का रकम जुटाने हेतु सरकारी कर्मियों के एक दिन का वेतन काटेगी सरकार अधिकांश अनुदान व सरकारी मदद हुए प्रभावित नागपुर वर्ष 2014 राज्य में भाजपा...

अहमदनगर के किसानों ने लिया निर्णय: खेत नहीं जोतेंगे, उपज नहीं बेचेंगे

अहमदनगर के किसानों ने लिया निर्णय: खेत नहीं जोतेंगे, उपज नहीं बेचेंगे

संजय अस्थाना : चंपारण सत्याग्रह के शताब्दी वर्ष में खेती-किसानी पर राष्ट्रीय विमर्श के बीच महाराष्ट्र में अहमदनगर के किसानों ने एलान किया है कि वे आगामी एक जून से अपनी उपज नहीं बेचेंगे. मंडियो में उपज का वाजिब दाम न...

महाराष्ट्र : कर्ज से परेशान किसान ने की पत्नी की हत्या और फिर दी अपनी जान

महाराष्ट्र : कर्ज से परेशान किसान ने की पत्नी की हत्या और फिर दी अपनी जान

मुंबई : महाराष्ट्र में कर्ज से परेशान किसानों के खुदखुसी करने का मामला थमने का नाम नही ले रहा है।महाराष्ट्र के जालना जिले के घनसावंगी तालुका के वाड़ीरामस गांव में एक किसान ने कर्ज से परेशान होकर पहले अपनी पत्नी...

महिला किसानों ने सीएम को भेजी खून से भरी राखी

महिला किसानों ने सीएम को भेजी खून से भरी राखी

मुंबई : योगी आदित्यनथ द्वारा किसानो कि क़र्ज़माफ़ी के बाद अब महाराष्ट्र के किसान भी अपनी कर्जमाफी के लिए सरकार से गुहार लगा रहे हैं।  इसी क्रम में औरंगाबाद की महिला किसानों ने कर्जमाफी की मांग के लिए आंदोलन शुरू...

ये नरकंकाल सरकार से फरियाद करने दिल्ली आए है…

ये नरकंकाल सरकार से फरियाद करने दिल्ली आए है…

नई दिल्ली, (निरंजन) :  29 मार्च को जब संसद भवन परिसर में लोकसभाध्यक्ष सहित हमारे तमाम सांसद फुटबॉल को किक मारकर फीफा वर्ल्ड कप के लिए माहौल बना रहे थे, ठीक उसी समय कुछ लोग अपनी मांगों को लेकर गले...

दादरी पॉवर प्लांट भूमि अधिग्रहण प्रकरण : रिलायंस ने घुटने टेके

दादरी पॉवर प्लांट भूमि अधिग्रहण प्रकरण : रिलायंस ने घुटने टेके

किसान को विकास का अगुवा और संस्कृति का खुदा कहा गया है, लेकिन जैसे-जैसे मानव सभ्यता आगे बढ़ी, वैसे-वैसे किसान हाशिये पर चला गया. रील लाइफ से रियल लाइफ तक किसान का चरित्र हमेशा से हारने वाला रहा है. वह...

ऐसे एनजीओ जनांदोलनों के लिए ख़तरा हैं

ऐसे एनजीओ जनांदोलनों के लिए ख़तरा हैं

इस देश में ग़ैर सरकारी संगठनों के बारे में जितनी चर्चाएं होनी चाहिए, अफ़सोस! उतनी नहीं हो रही हैं. क्या एनजीओ को शामिल किए बग़ैर आंदोलन सफल नहीं हो सकता? क्या आंदोलनों को नुक़सान पहुंचाने में एनजीओ की कोई भूमिका...

किसानों की दुश्मन है कांग्रेस

किसानों की दुश्मन है कांग्रेस

भट्टा-पारसौल किसान आंदोलन के अग्रणी नेता मनवीर तेवतिया ने भूमि अधिग्रहण विधेयक में संशोधन की मांग को लेकर और किसान हितों की अनदेखी के ख़िलाफ़ पिछले दिनों जंतर-मंतर पर आमरण अनशन किया. उनके इस किसान सत्याग्रह आंदोलन को समाजसेवी अन्ना...

सत्ता दमन और शोषण का साधन बन गई है

हमारा देश आज जिस विषम परिस्थिति से गुज़र रहा है, वह हर जागरूक नागरिक के लिए चिंता का विषय है. देश की आज़ादी ने स्वाभाविक ही लोगों के मन में यह आशा जगाई थी कि अब ग़रीबी और शोषण समाप्त...

विदेशी भगाओ-स्वदेशी अपनाओ की नीति पर अमल हो

हो सकता है कि सरकार क़ानूनों के तहत जबर्दस्ती अनाज ले जाए, लेकिन क्या 55 साल पूर्व बारडोली में ब्रिटिश सरकार ग्रामीणों की एकता के सामने लगान वसूल करने में सफल हो गई थी? वह सत्याग्रह तो क़रीब 100 गांवों तक...

ताक़त का सही उपयोग कैसे करें

ताक़त का सही उपयोग कैसे करें

ताक़त का उपयोग आंदोलन करने के लिए किस प्रकार किया जाए? विभिन्न किसान संगठनों ने इसके लिए मोर्चा, जुलूस, रास्ता रोको, चक्का जाम, घेराव, बंद एवं अन्य तरीकों का उपयोग किया. इससे जागृति आई, संगठन बना और किसानों में आत्मविश्‍वास...

संगठन और आंदोलन

संगठन और आंदोलन

अत: किसान और मज़दूर, दोनों का हित इसी में है कि कृषि से उत्पादित वस्तुओं का वाजिब दाम मिले और गांव में सुधरी हुई खेती एवं ग्रामोद्योग का जाल बिछे. आज किसान एवं मज़दूर, दोनों छोटे-छोटे मुद्दों को लेकर आपस...

वाजिब दाम-नीति का सवाल

वाजिब दाम-नीति का सवाल

सरकार कृषि के साथ सौतेली मां जैसा व्यवहार करती है. सरकार आज नगरों में नए उद्योगों को बिजली रियायती दर पर देती है. औद्योगीकरण जारी रहे, इसलिए सरकार कुछ पुराने उद्योगों के लिए भी यह सुविधा प्रदान करती है, जैसे...

सरकार को पैसा कौन देता है

आज देश में अंतर्विरोध की कई रेखाएं हैं. जैसे कि गांव में किसान मज़दूर का शोषण करता है, बड़ा छोटे का शोषण करता है, नगरों में मालिक मज़दूर का शोषण करता है, कई सरकारी अधिकारी भ्रष्टाचार द्वारा सामान्य जनता का...

क्या यही है सच्चा देश प्रेम!

बीसवीं सदी के छठे और सातवें दशक तक हरित क्रांति अवतीर्ण नहीं हुई थी. नीचे के आंकड़ों से साफ़ है कि द्वितीय पंचवर्षीय योजना से योजनाकारों ने यह समझ-बूझकर तय किया कि कम से कम प्रतिशत ख़र्च कृषि पर किया...

एक आंदोलन- ताकि यमुना कैदमुक्त हो

एक आंदोलन- ताकि यमुना कैदमुक्त हो

1990 में शुरू हुआ आर्थिक उदारीकरण अब अपना असर दिखा रहा है. ख़ुशहाली से भरे सपनों का गुब्बारा फटने लगा है. व्यवस्था के ख़िलाफ़ आक्रोश और व्यवस्था के प्रति नाराज़गी बढ़ती ही जा रही है. देश भर में हज़ारों आंदोलन...

Input your search keywords and press Enter.