fbpx

Tag: जनता दल यूनाइटेड

चम्पारण से शरद का शंखनाद, बग़ावत की धरती से लोकतंत्र बचाने निकला हूं

चम्पारण से शरद का शंखनाद, बग़ावत की धरती से लोकतंत्र बचाने निकला हूं

जनता दल यूनाइटेड से अलग होने के बाद से शरद यादव लगातार नीतीश कुमार के खिलाफ आक्रामक रुख अख्तियार किए हुए हैं. अपनी संवाद यात्रा के क्रम में बीते दिनों शरद यादव चम्पारण पहुंचे, जहां से उन्होंने राज्य और केंद्र...

पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव : लोकसभा चुनाव का सेमीफाइनल

पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव : लोकसभा चुनाव का सेमीफाइनल

पांच राज्यों चुनाव की तारीख़ें तय हो गई हैं. भाजपा और कांग्रेस समेत सभी पार्टियां इन राज्यों की सत्ता हथियाने के लिए ज़ोर लगा रही हैं, क्योंकि ये चुनाव लोकसभा चुनाव के ठीक पहले होने जा रहे हैं, जो एक...

राजनीति में विश्वकसनीयता ज़रूरी

यूपीए सरकार की सभी असफलताओं के बाद भी भाजपा की हालिया नीतियां उसे चुनाव हरा सकती हैं. भले ही मोदी चाहते हों कि यह चुनाव गवर्नेंस के मुद्दे पर लड़ा जाए, लेकिन बीजेपी में कुछ नेताओं की अभी भी यह...

दंगे  होने वाले है

दंगे होने वाले है

देश में जिस तरह का राजनीतिक माहौल बनाया जा रहा है, उससे साफ़ लगता है कि दंगे होने वाले हैं. देश का मीडिया, राजनीतिक दल और राजनेता इस देश में दंगे कराने पर आमादा हैं. दंगे कराने वालों में सांप्रदायिक...

आडवाणी की चाणक्य नीति

आडवाणी की चाणक्य नीति

संघ की एक आदत रही है कि कभी मुसीबत का सामना मत करो, पीठ दिखाकर अलग हट जाओ और इसका उदाहरण संजय जोशी का ही है कि जब नरेंद्र मोदी ने उनके ख़िलाफ़ अभियान चलाया और मुंबई अधिवेशन में शामिल...

बिहार में अधिकारियों का राज

बिहार में अधिकारियों का राज

बिहार में अधिकारियों की तानाशाही है और वहां के अधिकारी निरंकुश हो गए हैं.राज्य में भ्रष्टाचार चरम पर है. भ्रष्टाचार ख़त्म करने की स़िर्फ बातें होती हैं,लेकिन कोई कार्रवाई अंततः नहीं होती. दरअसल, पिछले कार्यकाल की जो भी उपलब्धि थी,...

तीसरा मोर्चा संभावनाएं और चुनौतियां

तीसरा मोर्चा संभावनाएं और चुनौतियां

लोकसभा में एफडीआई के मुद्दे पर दो दलों ने जो किया, वह भविष्य की संभावित राजनीति का महत्वपूर्ण संकेत माना जा सकता है. शायद पहली बार मुलायम सिंह और मायावती किसी मुद्दे पर एक सी समझ रखते हुए, एक तरह...

यह बिहार और विकास की जीत है

दो कहावतें हैं. एक लालू यादव और राम विलास पासवान पर तथा एक कांग्रेस पर लागू होती है. कछुए और खरगोश की दौड़ की कहानी हम सबने बचपन में पढ़ी भी है और जीवन में कई बार सुनी भी है....

गांधी जी और बटक मियां

गांधी जी और बटक मियां

लंदन से दक्षिण अफ्रीका लौटते व़क्त राष्ट्रपिता गांधी ने जो संवाद लिखा था, वह बाद में हिंद स्वराज के नाम से पुस्तकाकार भी छपा. इस पुस्तक के प्रकाशन के सौ साल पूरे होने पर बुद्धिजीवियों के बीच जमकर बहस-मुहाबिसा हुआ....

Input your search keywords and press Enter.