fbpx

Tag: धार्मिक

हड़ताल जारी रखना हुर्रियत की मजबूरी

हड़ताल जारी रखना हुर्रियत की मजबूरी

श्रीनगर के हैदरपुरा क्षेत्र स्थित सैयद अली शाह गिलानी के निवास के बाहर आठ नवंबर को भीड़ जमा थी. इस भीड़ में ऐसे दर्जनों नौजवान भी शामिल थे, जिन्होंने अपने चेहरों को रुमाल से ढंक रखा था. वो अपने जोशीले...

भक्तों की सत्यनिष्ठा

भक्तों की सत्यनिष्ठा

श्री शिरडी साईं बाबा ने अपने एक भक्त को जो कि उस समय एक मजिस्ट्रेट के रूप में कार्य कर रहा था, बताया था कि उसको व्यक्तिगत और कर्मक्षेत्र में सत्यनिष्ठा से आचरण करना चाहिए. यहां पर बाबा के द्वारा...

कुरीतियों को तोड़ने के लिए लेते हैं अवतार

कुरीतियों को तोड़ने के लिए लेते हैं अवतार

एक गृहस्थ किस प्रकार अपने व्यवसाय एवं पारिवारिक दायित्वों का निर्वाह करते हुए बाबा से संबद्ध कार्यों में संलग्न हो सकता है? एक गृहस्थ को अपने परिवार के प्रति अपने सभी दायित्वों का श्रेष्ठता से निर्वाह करते हुए बाबा के...

सद्गुरु भक्तों के अर्न्तमन को जानते हैं

सद्गुरु भक्तों के अर्न्तमन को जानते हैं

गुरु-मुख होने की आवश्कता संसार में जो अनेक तरह के बंधन हैं, मनुष्य उनमें क्यों फंसता है? संसार के अनेक बंधनों में हम इसलिए फंसते हैं, क्योंकि हमारे मन में संसार के प्रति आकर्षण होता है. हम उस भावना के अनुरूप...

समस्त मनोकामनाएं पूर्ण होंगी

समस्त मनोकामनाएं पूर्ण होंगी

शिरडी के साई बाबा योगी, फकीर और गुरु थे, जिन्हें हिन्दु और मुसलमान संत कहते हैं और उनकी आराधना करते हैं. साई बाबा ने प्रेम, क्षमा, मदद, सेवा, संतोष, मन की शांति व ईश्‍वर और गुरु के प्रति भक्ति का...

विदेशी फंड द्वारा संचालित एनजीओ ने पश्‍चिम एशिया में अराजकता फैलाई

विदेशी फंड द्वारा संचालित एनजीओ ने पश्‍चिम एशिया में अराजकता फैलाई

अरब स्प्रिंग या अरब बहार क्रांति की शुरुआत दिसंबर 2010 में ट्यूनीशिया से हुई और देखते ही देखते यह उत्तरी अफ्रीका और अन्य अरब देशों फैल गई थी. कमोबेश इसे लेकर सभी अरब देशों में विरोध प्रदर्शन भी हुए. उन...

मुसलमानों का वोट और जीतने वाले उम्मीदवार

मुसलमानों का वोट और जीतने वाले उम्मीदवार

2014 के आम चुनाव में जीत हासिल करके 16वीं लोकसभा में पहुंचने वाले सभी उम्मीदवारों के नाम का ऐलान हो चुका है. पिछली बार जहां जीतने वाले उम्मीदवारों की संख्या 30 थी, इस बार वह घटकर 23 पर पहुंच चुकी...

राजनीति का शुद्धिकरण

जनता सार्वजनिक जीवन के प्रति उदास हो गई है, क्योंकि बहुजन समाज उपेक्षित है. बेरोजगारी का निराकरण, किसान की प्राथमिक आवश्यकताओं की पूर्ति तथा सवर्णों के द्वारा अवर्णों पर होने वाले अत्याचारों का निवारण हमें करना होगा-राज्य-सरकारों से कराना होगा....

सिनेमाघरों से जुडी खट्टी-मीठी यादें

सिनेमाघरों से जुडी खट्टी-मीठी यादें

देश का ऐसा कोई गांव या शहर नहीं होगा, जहां के लोगों की सिनेमा से जुड़ी कोई मीठी याद न हो. हर मोहल्ले में कोई न कोई बीना दीदी ज़रूर होती थी, जो मोहल्ले की औरतों को इकट्ठा कर पास...

यूरोप को अपनी मानसिकता बदलनी चाहिए

यूरोप को अपनी मानसिकता बदलनी चाहिए

यूरोप में मुस्लिमों के साथ भेदभाव किए जाने का मामला किसी न किसी स्तर पर उठता रहता है. इस बीच एमनेस्टी इंटरनेशनल की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि जो मुसलमान सार्वजनिक तौर पर अपने धार्मिक प्रतीकों का इस्तेमाल...

सबका मालिक एक : साईं बाबा

शिरडी ही साई बाबा है और साई बाबा ही शिरडी, एक-दूसरे का प्रत्यक्ष पर्यायवाची होने के साथ-साथ यह आध्यात्मिक भी है. साई शब्द के उच्चारण से आशा और आदर का भाव उत्पन्न होता है. साई बाबा को किसी परिचय की...

बाबा के उपदेश

बाबा के उपदेश

उपदेश देने के लिए किसी विशेष समय या स्थान की प्रतीक्षा न करके बाबा यथायोग्य समय पर स्वतंत्रतापूर्वक उपदेश दिया करते थे. एक बार एक भक्त ने बाबा की अनुपस्थिति में दूसरे लोगों के सम्मुख किसी को अपशब्द कहे. गुणों...

जाकी रही भावना जैसी

जाकी रही भावना जैसी

दृष्टि के बदलते ही सृष्टि बदल जाती है, क्योंकि दृष्टि का परिवर्तन मौलिक परिवर्तन है. अतः दृष्टि को बदलें, सृष्टि को नहीं. दृष्टि का परिवर्तन संभव है, सृष्टि का नहीं. दृष्टि को बदला जा सकता है, सृष्टि को नहीं.

गुरु के कर स्‍पर्श

गुरु के कर स्‍पर्श

जब सद्‌गुरु ही नाव के खिवैया हों तो वह निश्चय ही कुशलता और सरलता पूर्वक इस भवसागर के पार उतार देंगे. सद्‌गुरु शब्द का उच्चारण करते ही मुझे श्री साई की स्मृति आ रही है. ऐसा प्रतीत होता है, मानो...

सरकारी भूमि पूजन का औचित्या

सरकारी भूमि पूजन का औचित्या

पुलिस स्टेशनों, बैंकों एवं अन्य शासकीय-अर्द्ध शासकीय कार्यालयों एवं भवनों में हिंदू देवी- देवताओं की तस्वीरें-मूर्तियां आदि लगी होना आम बात है. सरकारी बसों एवं अन्य वाहनों में भी देवी-देवताओं की तस्वीरें अथवा हिंदू धार्मिक प्रतीक लगे रहते हैं. सरकारी...

विधानसभा चुनाव और मुसलमानों का सियासी रूझान

विधानसभा चुनाव और मुसलमानों का सियासी रूझान

पश्चिम बंगाल के विधानसभा चुनाव बेहद महत्वपूर्ण हैं, मुसलमान वहां रिवायती तौर पर अभी तक सीपीएम के नेतृत्व वाले वाम मोर्चे को ही वोट देते आए हैं. कांग्रेस के मुक़ाबले मुसलमानों को वाम मोर्चा सरकार में अपने अधिकारों की अधिक...

शीतकालीन चार धाम यात्राः सनातन धर्म के साथ खिलवाड़

शीतकालीन चार धाम यात्राः सनातन धर्म के साथ खिलवाड़

उत्तराखंड सरकार द्वारा अपनी आय में वृद्धि के लिए शीतकालीन चार धाम यात्रा को हरी झंडी दिखाने के बाद राज्य के धर्माचार्य इसे धर्म विरोधी क़दम बताते हुए इसका व्यापक विरोध कर रहे हैं. देवभूमि हिमालय में आदिकाल से चार...

धार्मिक कट्टरता और धर्म

धार्मिक कट्टरता और धर्म

तार्किकता के पैरोकार, अक्सर धार्मिक कट्टरता के लिए धर्म को दोषी ठहराते हैं. क्या यह सोच सही है? इस प्रश्न का उत्तर जानने के लिए सबसे पहले हमें धार्मिक कट्टरता का अर्थ समझना होगा. सामान्य भाषा में हम यह कह...

माया कैसे तोड़ेंगी इतने मंदिर-मस्जिद!

माया कैसे तोड़ेंगी इतने मंदिर-मस्जिद!

अयोध्या मसले पर हाईकोर्ट का फैसला आने के बाद उत्तर प्रदेश की मुख्यमंत्री मायावती ने फैसले के क्रियान्वयन की ज़िम्मेदारी केंद्र के माथे मढ़ दी. साथ ही धमकी दी कि अगर प्रदेश में क़ानून व्यवस्था बिगड़ती है तो केंद्र ज़िम्मेदार...

समाधि मंदिर और पूर्व तैयारी

समाधि मंदिर और पूर्व तैयारी

हिंदुओं में यह प्रथा है कि जब किसी मनुष्य का अंतकाल निकट आ जाता है तो उसे धार्मिक ग्रंथ आदि पढ़कर सुनाए जाते हैं. इसका मुख्य कारण केवल यही है कि इससे उसका मन सांसारिक झंझटों से मुक्त होकर आध्यात्मिक...

साई की महिमा का अनुभव

साई की महिमा का अनुभव

आज अपने जीवन का एक ऐसा अनुभव आपके साथ बांटना चाहती हूं, जिसमें साई बाबा की कृपा की वजह से मैं संभल पाई. मैं जीवन की ऐसी भंवर में फंसी थी, जिसमें आज बहुत से पढ़े-लिखे युवक-युवती घिरे रहते हैं.

सच्चर कमेटी की रिपोर्ट और मुसलमान

सच्चर कमेटी की रिपोर्ट और मुसलमान

इस्लाम हमेशा हमारे दिलों के क़रीब रहा है और भारत में इसका विकास और विस्तार लगातार जारी रहेगा. हमारी धार्मिक सोच इतनी विस्तृत है कि इसमें हर विचारधारा के लिए जगह है. सभी धार्मिक विचारधाराएं अपनी पहचान बनाए रखते हुए...

विघ्‍नहर्ता रहें हमेशा साथ

विघ्‍नहर्ता रहें हमेशा साथ

धार्मिक रुझान वाले लोगों में भगवान गणेश का विशेष स्थान है और विघ्नहर्ता गणेश जनसामान्य के बीच सबसे लोकप्रिय भगवान हैं. कहा जाता है कि किसी भी काम की शुरुआत करने से पहले यदि गणेश की पूजा की जाए या...

भगवान नरसिंह का शांत और लोक कल्याणकारी रूप

भगवान नरसिंह का शांत और लोक कल्याणकारी रूप

देवभूमि हिमालय के पावन जोशीमठ में भगवान नरसिंह की एक ऐसी दिव्य मूर्ति है, जो कला, धार्मिक विश्वास और मान्यताओं का बेजोड़ नमूना है. शालिग्राम पत्थर से बनी यह मूर्ति जगतगुरु आदि शंकराचार्य द्वारा पूजित उनकी तपोस्थली ज्योर्तिमठ (जोशीमठ) में...

लद्दा़ख: धार्मिक अंधविश्वास से बिगड़ा माहौल

लद्दा़ख: धार्मिक अंधविश्वास से बिगड़ा माहौल

लेह में स्थित शियाओं की मस्जिद लद्दा़खी राजाओं के पुराने राजमहल के ठीक बगल में बनी हुई है. कुछ दिनों पहले इसका ईरानी तरीक़े से पुनरुद्धार किया गया है, लेकिन इसके रंगे हुए खंभे और उन पर बने फूलों के...

मक़बूल पर फिदा क्यों हों?

मक़बूल पर फिदा क्यों हों?

जब मैंने मक़बूल फिदा हुसैन के भारत छोड़ने और क़तर की नागरिकता स्वीकार करने पर सेक्युलरवादियों के दोहरे चरित्र को उजागर करता हुआ लेख चौथी दुनिया में लिखा तो मेरे विवेक और मेरी समझ, मेरी विचारधारा, मेरी शिक्षा, मेरी पारिवारिक...

औरत के अधिकार के लिए आवाज़ उठाने का मतलब है मुसीबत को हवा देना

औरत के अधिकार के लिए आवाज़ उठाने का मतलब है मुसीबत को हवा देना

औरतों के फर्ज़ की जब बात आती है तो सारा मंच एक तऱफ दिखाई देता है, चाहे वह राजनीतिक हो, धार्मिक हो या फिर स्कॉलर हों या धर्मगुरु. लेकिन जब औरत के हक़ की बात आती है, चाहे उस हक...

यह आत्ममंथन का व़क्त है

यह आत्ममंथन का व़क्त है

साहित्य अकादमी के पुरस्कार वितरण समारोह में कुछ हिंदू संगठनों के विरोध से साहित्यिक जगत में तू़फान उठ खड़ा हुआ है. प्रगतिवाद और जनवाद के तथाकथित ठेकेदार इसे लेखकीय अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता पर भगवा हमला करार दे रहे हैं. इन...

कुंभ स्नानों की कुछ यादें कचोटती हैं

कुंभ स्नानों की कुछ यादें कचोटती हैं

यूं तो कुंभ शताब्दियों से भारत के चार नगरों, जो चार दिशाओं में विभिन्न नदियों के किनारे बसे हैं, में धार्मिक स्नान पर्व के रूप में मनाया जा रहा है. लेकिन इसका बहुत पुराने, ऐतिहासिक और प्रमाणिक दस्तावेज़ उपलब्ध नहीं...

अल्लाह शब्द पर किसी का एकाधिकार नहीं

अल्लाह शब्द पर किसी का एकाधिकार नहीं

मलेशिया एक बार फिर से ग़लत कारण से अंतरराष्ट्रीय ख़बर की सुर्ख़ियों में है. पिछले दो सप्ताह के दौरान असामाजिक तत्वों ने पूजा के दस स्थलों को अपना निशाना बनाया है. इन स्थलों में ईसाइयों के गिरिजाघर और सिखों के...

Input your search keywords and press Enter.