fbpx

Tag: समाजवाद

गोरे अंग्रेज गए, काले आ गए?

किसानो  का शोषण शुरू हुआ. साहूकारों के हाथ में बड़े-बड़े खेतों के चक आए. उधर कई किसान भूमिहीन हो जाने और किसान-मज़दूरों के ग्रामीण धंधे टूट जाने से इन साहूकारों या इंग्लैंड की राजस्व-नीति से पैदा हुए (नवनिर्मित) ज़मींदारों के...

समाजवाद और हिंदुत्व की युगलबंदी?

समाजवाद और हिंदुत्व की युगलबंदी?

अखिलेश सरकार के दौरान हुई यह पहली मुस्लिम विरोधी हिंसा थी, जिसे किसी भी नज़रिए से दंगे का नाम नहीं दिया जा सकता. दंगा दो फिरक़ों के बीच होता है, लेकिन यह तो मुसलमानों पर सोची-समझी साज़िश के तहत हुआ...

उत्तर प्रदेश : निज़ाम के साथ बदलेगा नौकरशाही का रंग

उत्तर प्रदेश : निज़ाम के साथ बदलेगा नौकरशाही का रंग

समाजवाद के नए अवतार बनकर उभरे अखिलेश यादव की ताजपोशी हो गई है. जश्न का माहौल खत्म होने के बाद अब कुछ कर दिखाने की बारी है. यह बात मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से छिपी नहीं है. जनता उन्हें भले ही...

मालिक बड़ा या श्रमिक बड़ा

मालिक बड़ा या श्रमिक बड़ा

हर धंधे में एक श्रमिक का औसत कार्यभार निर्धारित होना आवश्यक है. मालिक लोग तो, मान लीजिए, ऐसे एक मज़दूर को चुन लेते हैं, जो बहुत ज़्यादा मेहनत करता है या निपुण है, जो सबसे ज़्यादा काम करता है, और...

परिवार में सिमटता मुलायम सिंह का समाजवाद

अगले दो-तीन साल भारतीय राजनीति के लिए काफी महत्वपूर्ण होंगे. इस दौरान कई राज्यों में विधानसभा चुनाव के अलावा 2014 में आम चुनाव भी होने हैं. सबसे अहम चुनाव देश के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश के माने जा रहे...

समाजवाद क्या है

समाजवाद क्या है

समाजवाद का मूल सिद्धांत है देश की कमाई को नए ढंग से बांटना. आपने शायद लक्ष्य नहीं किया हो, पर यह सत्य है कि देश की आय प्रत्येक दिन प्रत्येक क्षण बंटती रहती है और उस आय का बंटवारा होता...

समाजवाद की पृष्ठभूमि

समाजवाद की पृष्ठभूमि

भारत को आज़ाद हुए एक युग बीत गया है. सरकार की आर्थिक नीति समाजवादी व्यवस्था पर आधारित है. कांग्रेस, सोशलिस्ट, प्रजा-समाजवादी पार्टी, कम्युनिस्ट पार्टी, यहां तक कि नवनिर्मित स्वतंत्र पार्टी और जनसंघ तक भी समाजवादी अर्थव्यवस्था की हिमायत करते हैं....

Input your search keywords and press Enter.