fbpx

Tag: स्वतंत्रता

नागरिकता (संशोधन) बिल : पूर्वोत्तर भारत में आग लगाने का काम करेगा

नागरिकता (संशोधन) बिल : पूर्वोत्तर भारत में आग लगाने का काम करेगा

1947 में देश विभाजन की महान मानवीय त्रासदी के बाद धीरे-धीरे दिलों पर लगे हुए ज़ख्मों के दाग तो धुंधले हो गए, लेकिन उसने जिन समस्याओं को जन्म दिया वो 70 साल बाद भी समाप्त होने को नहीं आ रही...

प्रत्यक्ष काम नुकसानदायक नहीं

प्रत्यक्ष काम नुकसानदायक नहीं

मन के प्रशिक्षण के लिए एक पद्धति सूझती है. जैसे योगासन करने से शरीर धीरे-धीरे मुड़ने और झुकने लगता है, वैसे ही मन को बदलने के लिए ऐसा कोई काम रोज करें, जिसका मुझे कोई फल नहीं मिलनेवाला हो. अर्थात...

अमन की ओर बढ़ते क़दम

अमन की ओर बढ़ते क़दम

म्यांमार में दशकों से अल्पसंख्यकों के साथ वहशियाना व्यवहार होता रहा है. वर्तमान सरकार ने वहां के अल्पसंख्यकों की स्वतंत्रता और उनके अधिकारों की सुनिश्‍चितता के लिए एक नई पहल की है. हालांकि सरकार की ये पहल जब तक अल्पसंख्यकों...

इनसे सीखिए कैसे हो महिला सशक्तिकरण

इनसे सीखिए कैसे हो महिला सशक्तिकरण

जब महिलाओं के अधिकारों को लेकर चारों तऱफ हंगामा मचा हुआ है, तो ऐसे में कुछ सवाल ख़डे होते हैं. दरअसल, महिलाओं की आज़ादी के सवाल को समग्र रूप से देखना होगा. सामाजिक, राजनीतिक, सांस्कृतिक, वैयक्तिक और आर्थिक स्वतंत्रता से...

परिवर्तन की शताब्दी

परिवर्तन की शताब्दी

एक सौ दो साल पहले दिल्ली में ब्रिटिश शासक को ताज पहनाया गया था. उस समय ब्रिटिश साम्राज्य में सूर्यास्त नहीं होता था और पूरे विश्‍व के नक्शे पर लाल निशान दिखाई पड़ता था, जो ब्रिटिश राज का रंग था....

लक्ष्‍मी सहगल : लड़ाई अब भी जारी है

लक्ष्‍मी सहगल : लड़ाई अब भी जारी है

कैप्टन लक्ष्मी सहगल कभी पहचान की मोहताज नहीं रहीं. उनकी ज़िंदगी का हर पड़ाव उनके राजनीतिक उदय की एक अप्रत्याशित कहानी कहता है. आज़ाद हिंद फौज में कैप्टन बनने से लेकर 2002 में राष्ट्रपति के चुनाव लड़ने तक वह भारतीय...

इस बार सरकार ने गांधी को मारा

इस बार सरकार ने गांधी को मारा

राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के खून से सनी घास एवं मिट्टी, उनका चश्मा और चरखा सहित उनसे जुड़ी 29 चीज़ें ब्रिटेन में नीलाम हो गईं और इस देश का दुर्भाग्य देखिए, सरकार ने इस बारे में कुछ नहीं किया. इतना ही...

झीनी-झीनी बीनी नहीं, फटी चदरिया

झीनी-झीनी बीनी नहीं, फटी चदरिया

बुनकर! स़िर्फ एक पेशा नहीं, बल्कि प्रतीक भारतीयता का, मिट्टी की सोंधी महक का. स्वतंत्रता सेनानियों ने करघा के आसरे क्रांति का ख्वाब देखा और स्वतंत्रता प्राप्ति की तऱफ अग्रसर हुए. स्वतंत्र तो हम हुए, परंतु करघा दम तोड़ता गया....

क्या हम स्वतंत्रता के लायक़ हैं?

क्या हम स्वतंत्रता के लायक़ हैं?

गणतंत्र दिवस और महात्मा गांधी की पुण्यतिथि दोनों एक ही महीने में आते हैं. दोनों के बीच के निचोड़ को किस तौर देखा जाए. पाखंड और अतिश्योक्ति से मुक्ति के लिए किए गए कामों की सुरक्षा की जानी चाहिए या...

प्रेस और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता

प्रेस काउंसिल के नए चेयरमैन ने कुछ ऐसे महत्वपूर्ण मुद्दों को उठाया है, जिसकी वजह से मीडिया में अ़फरा-त़फरी का माहौल बन गया. इसके पीछे प्रेस काउंसिल का मक़सद स़िर्फ इतना था कि वह प्रेस के क्रिया-कलापों व मानकों पर...

रणबीर सिंह हुड्डा सच्चे देशभक्त थे

रणबीर सिंह हुड्डा सच्चे देशभक्त थे

सिर पर पगड़ी, आंखों में चश्मा, तन पर खादी और निराला स्वभाव. यही पहचान थी प्रखर गांधीवादी नेता रणबीर सिंह हुड्डा की. लोग उन्हें सम्मान से बाऊ जी कहकर पुकारते थे. वह आज हमारे बीच नहीं हैं, लेकिन उनके द्वारा...

स्‍वाधीनता संग्राम और मुसलमान

स्‍वाधीनता संग्राम और मुसलमान

इस साल कांग्रेस अपना 125वां स्थापना दिवस मना रही है. भारत के सभी धर्मों के नागरिकों ने भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के ज़रिए स्वतंत्रता आंदोलन में अपना योगदान दिया, परंतु हमारे नेताओं की बहुसंख्यकवादी मानसिकता और स्कूली पाठ्‌यक्रम तैयार करने वालों...

हैती की बर्बादी के लिए अमेरिका ज़िम्मेदार

हैती की बर्बादी के लिए अमेरिका ज़िम्मेदार

भारत की जनता के लिए हैती कभी महत्वपूर्ण नहीं रहा. इसके बावजूद भारत सरकार की हैती में मौजूदगी दक्षिण देशों की एकता का एक मज़बूत उदाहरण है. 2006 से ही दक्षिण अफ्रीका एवं ब्राजील के साथ भारत हैती में एक...

दिनाकरन प्रकरण: न्‍यायाधीश को बर्ख़ास्त करने की प्रक्रिया

दिनाकरन प्रकरण: न्‍यायाधीश को बर्ख़ास्त करने की प्रक्रिया

सर्वोच्च न्‍यायालय यह समझ पाने में सक्षम है कि न्‍यापालिका की स्वतंत्रता कैसे बहाल हो सकती है. और, उसकी विश्वसनीता कैसे बरक़रार रखी जा सकती है. वह इस बात को भलीभांति समझ सकता है कि न्‍यायाधीशों की नियुक्ति के लिए...

Input your search keywords and press Enter.