fbpx

Tag: law

पूर्व CJI आरएम लोढ़ा का CAB पर सवाल- धर्म के आधार पर बना कानून संविधान की मूलभावना के खिलाफ

पूर्व CJI आरएम लोढ़ा का CAB पर सवाल- धर्म के आधार पर बना कानून संविधान की मूलभावना के खिलाफ

सुप्रीम कोर्ट के पूर्व मुख्‍य न्‍यायाधीश आरएम लोढा (Ex-CJI RM Lodha) ने लोकसभा से पारित नागरिकता संशोधन विधेयक 2019 (Citizenship Amendment Bill 2019) पर सवाल उठाए. उन्‍होंने कहा कि धर्म के आधार पर बनाया गया कोई भी कानून संविधान (Constitution)...

पुलिस थाने में आत्मसमर्पण करने आये युवक को दबंगो ने पुलिस के सामने मारी गोली, हालत गंभीर

पुलिस थाने में आत्मसमर्पण करने आये युवक को दबंगो ने पुलिस के सामने मारी गोली, हालत गंभीर

उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर में दबंग इतने बेख़ौफ़ हैं, कि उन्हें पुलिस से भी डर नहीं लगता। वो जब चाहें जिसे चाहें गोली मार सकते हैं। ताज़ा मामला शाहजहांपुर ज़िले के थाना जलालाबाद के पास का है। जहां दबंगों ने...

सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश के फैसले के खिलाफ SC में पुनर्विचार याचिका दाखिल

सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश के फैसले के खिलाफ SC में पुनर्विचार याचिका दाखिल

केरल के सबरीमाला मंदिर में महिलाओं को प्रवेश की अनुमति देने वाले फैसले के खिलाफ अयप्‍पा मंदिर एसोसिएशन ने सुप्रीम कोर्ट में पुनर्विचार याचिका दाखिल की है. 800 साल पुरानी प्रथा पर देश की शीर्ष अदालत ने अपना सुप्रीम फैसला...

सुप्रीम कोर्ट का ऐतिहासिक फैसला- विवाहेत्तर संबंध अब अपराध नहीं

सुप्रीम कोर्ट का ऐतिहासिक फैसला- विवाहेत्तर संबंध अब अपराध नहीं

विवाहेत्तर संबंधों के मामले में केवल पुरुष को दोषी मानने वाली भारतीय दंड संहिता के कानून की संवैधानिक वैधता को चुनौती देने वाली याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने अभी अहम फैसला सुनाया है. सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि जो प्रावधान...

डाटा लीक पर सरकार गंभीर, सख्त होंगे कानून

डाटा लीक पर सरकार गंभीर, सख्त होंगे कानून

डाटा लीक की लगातार आ रही खबरों के बाद सरकार की भी नींद खुली है. सरकार इस संबंध में एक कानून लाने जा रही है. सूचना प्रौद्यौगिकी मंत्रालय का मानना है कि दिसंबर तक इसे संसद से पास करवा लिया...

मोदी सरकार ने तीन साल में हटाए 1159 पुराने क़ानून : क़ानूनी किताब का ‘अंग्रेजी’ पाठ

मोदी सरकार ने तीन साल में हटाए 1159 पुराने क़ानून : क़ानूनी किताब का ‘अंग्रेजी’ पाठ

कानून की किताब में जितने नए अध्याय ज़ुडे हैं, उससे कहीं अधिक हटाए गए हैं. ये ब्रिटिशकालीन अध्याय कानूनी किताब में आर्काइव की तरह पड़े थे. प्रधानमंत्री मोदी ने तत्परता दिखाते हुए करीब बारह सौ पुराने कानूनों को एक झटके...

वनाधिकार कानून : जंगल का अधिकार जमीन पर उतरता ही नहीं

वनाधिकार कानून : जंगल का अधिकार जमीन पर उतरता ही नहीं

वन व अन्य प्राकृतिक संपदा पर आश्रित समुदायों के स्वतंत्र एवं पूर्ण अधिकार का विषय वनाधिकार आंदोलन में हमेशा से प्रमुख रहा है. अंग्रेज़ी राज के ज़माने में ही इन संपदाओं पर उपनिवेशिक शासकों ने पूरा कब्ज़ा जमा लिया. उन...

पाकिस्तान के अजीबों गरीब क़ानून, किसी का फोन छूने पर होती है जेल

पाकिस्तान के अजीबों गरीब क़ानून, किसी का फोन छूने पर होती है जेल

नई दिल्ली, (राज लक्ष्मी मल्ल): हर देश में कुछ ऐसे कानून होते हैं तो दूसरे देश में बैठे लोगों को अजीब या बेतुका, अटपटा लगता है. ऐसा ही देश पाकिस्तान हैं यहां का कुछ कानून अजीबोगरीब हैं जिसे जानते ही...

सरकार ही क़ानून तोड़ेगी तो क़ानून की रक्षा कौन करेगा

सरकार ही क़ानून तोड़ेगी तो क़ानून की रक्षा कौन करेगा

ये शिकायत नहीं है, ये गुस्सा भी नहीं है और इसके आगे कहें, तो अब कोई तकली़फ  भी नहीं है, क्योंकि ऐसा लगता है कि दर्द हद से ज्यादा बढ़ गया है. स़िर्फ कुछ शंकाएं हैं वो शंकाएं प्रधानमंत्री जी...

खीरी में ख़राब स्वास्थ्य सेवाएं, झूठ के आसरे सीएमओ

खीरी में ख़राब स्वास्थ्य सेवाएं, झूठ के आसरे सीएमओ

चुनावी बिगुल बज चुका है, लेकिन सच मानिए, पूरे प्रदेश की जनता विभिन्न मुद्दों जैसे बिजली, पानी, कानून, रोजगार, शिक्षा व स्वास्थ्य को लेकर त्राहि-त्राहि कर रही है. प्रदेश में स्वास्थ्य का मुद्दा अत्यंत गंभीर है. इन दिनों समूचा प्रदेश...

जश्न-ए-आजादी : दिल्ली से उना वाया बस्तर

जश्न-ए-आजादी : दिल्ली से उना वाया बस्तर

दिल्ली आजादी के जश्‍न में डूबी थी, वहीं अहमदाबाद से लेकर उना, दंतेवाड़ा से लेकर बस्तर तक दलित व आदिवासी आंदोलित थे. ‘आजादी कूच यात्रा’ के दौरान ‘जय भीम, दलित-मुस्लिम, भाई-भाई’ के नारे एक साथ लगाए जा रहे थे. नीले...

इस कलंक से मुक्ति के लिए स़िर्फ क़ानून का़फी नहीं

इस कलंक से मुक्ति के लिए स़िर्फ क़ानून का़फी नहीं

हाथ से मैला उठाने, उसे सिर पर ढोने या मैनुअल स्केवेंजिंग का घिनौना और अमानवीय कार्य आज भी हमारे देश में जारी है. मैला ढोने की यह प्रथा देश के माथे पर एक ऐसा बदनुमा दाग़ है, जिसे देखकर सबको...

जिसे अदालत ने देशद्रोह नहीं माना…

जिसे अदालत ने देशद्रोह नहीं माना…

जेएनयू और कन्हैया कुमार प्रकरण के बाद देश में देशद्रोह बनाम देशभक्ति एक राष्ट्रीय मुद्दा बनकर सामने है. हालत यह है कि विभिन्न राजनेता एवं संगठन देशद्रोही और देशभक्त का प्रमाण-पत्र बांटने का काम कर रहे हैं. ऐसे में यह...

कन्याएं काट रहीं क़ानून के कनकव्वे!

कन्याएं काट रहीं क़ानून के कनकव्वे!

कानून बनाए ही जाते हैं तोड़े जाने के लिए. फिल्म शहंशाह में खलनायक अमरीश पुरी के मुंह से निकला यह डायलॉग शायद महिलाओं के खिलाफ घरेलू हिंसा रोकने के लिए बने कानून 498-ए के बारे में ही कहा गया लगता...

यह दंगा भड़काने की साज़िश है

यह दंगा भड़काने की साज़िश है

एक तऱफ कमलेश तिवारी के घृणित बयान को लेकर देश का मुस्लिम समुदाय गुस्से में है और देश के विभिन्न शहरों में विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं, तो वहीं दूसरी तऱफ राम मंदिर मुद्दे को हवा देकर माहौल विषाक्त करने...

गंगा आज भी मैली है

गंगा आज भी मैली है

पर्यावरण बचाव और वन संरक्षण और अन्य प्राकृतिक संसाधनों सहित पर्यावरण से संबंधित किसी भी कानूनी मामले के प्रभावशाली और तीव्र गति से निपटारे के लिए गठित नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (एनजीटी) या राष्ट्रीय हरित अधिकरण ने गंगा सफाई को लेकर...

ये क़ानून कोढ़ में खाज जैसे हैं

ये क़ानून कोढ़ में खाज जैसे हैं

कोढ़ या कुष्ठ एक ऐसी बीमारी है जिसका नाम सुनते ही हमारे माथे पर बल पड़ जाना कोई असामान्य बात नहीं है. यदि कोई बदनसीब एक बार इस बीमारी से ग्रसित हुआ तो जैसे उसके जीवन पर पूर्ण विराम लग...

यह संसद संविधान विरोधी है

यह संसद संविधान विरोधी है

सरकार को आम जनता की कोई चिंता नहीं है. संविधान के मुताबिक़, भारत एक लोक कल्याणकारी राज्य है. इसका साफ़ मतलब है कि भारत का प्रजातंत्र और प्रजातांत्रिक ढंग से चुनी हुई सरकार आम आदमी के जीवन की रक्षा और...

प्रजातंत्र बना लाठीतंत्र

प्रजातंत्र बना लाठीतंत्र

एक बार लखनऊ में मुख्यमंत्री कार्यालय के बाहर जबरदस्त प्रदर्शन हुआ. प्रदर्शनकारी पूर्वांचल के अलग-अलग शहरों से लखनऊ पहुंचे थे, उनकी संख्या क़रीब 1500 रही होगी, उनमें किसान, मज़दूर एवं छात्रनेता भी थे, जो अपने भाषणों में मुख्यमंत्री के ख़िलाफ़...

प्रधानमंत्री के नाम अन्ना की चिट्ठी

प्रधानमंत्री के नाम अन्ना की चिट्ठी

सेवा में, श्रीमान् डॉ. मनमोहन सिंह जी, प्रधानमंत्री, भारत सरकार, नई दिल्ली. विषय : गैंगरेप-मानवता को कलंकित करने वाली शर्मनाक घटना घटी और देश की जनता का आक्रोश सड़कों पर उतर आया. ऐसे हालात में आम जनता का क्या दोष...

राजनीतिक दलों का रवैया गुस्सा दिलाता है

राजनीतिक दलों का रवैया गुस्सा दिलाता है

महाभारत शायद आज की सबसे बड़ी वास्तविकता है. इस महाभारत की तैयारी अलग-अलग स्थलों पर अलग तरह से होती है और लड़ाई भी अलग से लड़ी जाती है, लेकिन 2013 और 2014 का महाभारत कैसे लड़ा जाएगा, इसका अंदाज़ा कुछ-कुछ...

न थकेंगे, न झुकेंगे

न थकेंगे, न झुकेंगे

आखिर अन्ना हज़ारे क्या हैं, मानवीय शुचिता के एक प्रतीक, बदलाव लाने वाले एक आंदोलनकारी या भारतीय राजनीति से हताश लोगों की जनाकांक्षा? शायद अन्ना यह सब कुछ हैं. तभी तो इस देश के किसी भी हिस्से में अन्ना चले...

मध्‍य प्रदेश: पुलिस बर्बरता के शिकार हुए किसान

मध्‍य प्रदेश: पुलिस बर्बरता के शिकार हुए किसान

भूमि अधिग्रहण के लिए सरकार भले ही एक मज़बूत क़ानून बनाने की बात कर रही हो, लेकिन सच्चाई इसके विपरीत है. यही वजह है कि देश की सभी राजनीतिक पार्टियां किसानों और मज़दूरों के हितों की अनदेखी करते हुए निजी...

भविष्य के भ्रष्टाचारियों के कुतर्क

भविष्य के भ्रष्टाचारियों के कुतर्क

बहुत चीजें पहली बार हो रही हैं. पूरा राजनीतिक तंत्र भ्रष्टाचार के समर्थन में खड़ा दिखाई दे रहा है. पहले भ्रष्टाचार का नाम लेते थे, तो लोग अपने आगे भ्रष्टाचारी का तमगा लगते देख भयभीत होते हुए दिखाई देते थे,...

48  लाख करोड़ का महाघोटाला

48 लाख करोड़ का महाघोटाला

जबसे यूपीए सरकार बनी है, तबसे देश में घोटालों का तांता लग गया है. देश के लोग यह मानने लग गए हैं कि मनमोहन सिंह सरकार घोटालों की सरकार है. एक के बाद एक और एक से बड़ा एक घोटाला...

एक नहीं, देश को कई केजरीवाल चाहिए

एक नहीं, देश को कई केजरीवाल चाहिए

साधारण पोशाक में किसी आम आदमी की तरह दुबला-पतला नज़र आने वाला शख्स, जो बगल से गुजर जाए तो शायद उस पर किसी की नज़र भी न पड़े, आज देश के करोड़ों लोगों की नज़रों में एक आशा बनकर उभरा...

सेवानिवृत्‍त लेफ्टिनेंट कमांडर बेनीवाल : नियमों के जाल में उलझी पेंशन

सेवानिवृत्‍त लेफ्टिनेंट कमांडर बेनीवाल : नियमों के जाल में उलझी पेंशन

तमाम सर्वे बताते हैं कि आज के युवा सेना में नौकरी करने की बजाय अन्य कोई पेशा अपनाना चाहते हैं. ऐसा नहीं है कि सेना की नौकरी के आकर्षण में कोई कमी आई हो या फिर वहां मिलने वाली सुविधाओं...

फर्रुख़ाबाद को बदनाम मत कीजिए

फर्रुख़ाबाद को बदनाम मत कीजिए

मैं अभी तक पसोपेश में था कि सलमान खुर्शीद के खिला़फ कुछ लिखना चाहिए या नहीं. मेरे लिखे को सलमान खुर्शीद या सलमान खुर्शीद की जहनियत वाले कुछ और लोग उसके सही अर्थ में शायद नहीं लें. इसलिए भी लिखने...

Input your search keywords and press Enter.