fbpx

Tag: leaders

खुद के बच्चों को विदेशों में सेटल कर कश्मीर में नफरत फैला रहे हैं ये नेता

खुद के बच्चों को विदेशों में सेटल कर कश्मीर में नफरत फैला रहे हैं ये नेता

अमित शाह के गृहमंत्री बनते ही गृह मंत्रालय ने उन अलगाववादी नेताओं की लिस्ट जारी की है, जिनके बच्चे विदेश में पढ़ते हैं. इन नेताओं में जम्मू कश्मीर के अधिकतर अलगाववादी नेता हैं. इस लिस्ट में आसिया अंद्राबी से लेकर...

देवरिया के नारी संरक्षण गृह में वर्षों से चल रहा था यौनाचार का धंधा, धिक्कार है…

देवरिया के नारी संरक्षण गृह में वर्षों से चल रहा था यौनाचार का धंधा, धिक्कार है…

नारी संरक्षण गृहों, संप्रेक्षण गृहों और अनाथालयों में बच्चियों की दुर्दशा का ताजा अध्याय बिहार के मुजफ्फरपुर के बाद उत्तर प्रदेश के देवरिया में भी खुला. बेसहारा और मजबूर लड़कियों के साथ प्रायोजित दुर्व्यवहार कोई नई घटना नहीं है. निकृष्टतम...

योगी ने अपने ही मत्थे फोड़ लिया ठीकरा

योगी ने अपने ही मत्थे फोड़ लिया ठीकरा

सरकार का पक्ष लेने के बजाय अपनी साधने में लगे महाधिवक्ता चुप्पी साधे चतुर चाल चलने और समझने में लगे हैं क़ानून मंत्री ‘वकील-लूट’ में नेता, महाधिवक्ता, जज और नौकरशाह सब शरीक हाईकोर्ट ने कहा सरकारी वकील का पद रेवड़ी...

देर से मिली सजा पर ग्रामीणों में असंतोष

देर से मिली सजा पर ग्रामीणों में असंतोष

मार्च 1999 में हुए सेनारी नरसंहार के बाद राज्य ही नहीं पूरा देश इस हृदय विदारक घटना से सदमे में आ गया था. बिहार के जहानाबाद जिले के सेनारी गांव में प्रतिबंधित नक्सली संगठन पीपुल्स वार ग्रुप के दस्ते ने...

सूखाग्रस्त बुंदेलखंड के अभावग्रस्त लोगों ने कहा, नहीं मिल रही कोई राहत : भूख पर भारी भ्रष्टाचार

सूखाग्रस्त बुंदेलखंड के अभावग्रस्त लोगों ने कहा, नहीं मिल रही कोई राहत : भूख पर भारी भ्रष्टाचार

राहत पैकेजों से अकालग्रस्त बुंदेलखंड को कोई राहत नहीं मिल रही है. राहत पैकेजों में भारी घोटाले की खबरें सामने आ रही हैं. किसानों के राहत के लिए आए पैकेज से नेता, अफसर, ठेकेदार और दलाल मालामाल हो रहे हैं....

राज्य मंत्री के इशारे पर दी गई दबिश में झुलसे पत्रकार की मौत : भ्रष्टाचार के खिला़फ आवाज़ उठाने का अंजाम

राज्य मंत्री के इशारे पर दी गई दबिश में झुलसे पत्रकार की मौत : भ्रष्टाचार के खिला़फ आवाज़ उठाने का अंजाम

उत्तर प्रदेश में सोशल मीडिया पर ताकतवर नेताओं और मंत्रियों की करतूतों को उजागर करने वाले पत्रकारों या आम लोगों की जान आफत में है. ताकतवर मंत्री आजम खान के इशारे पर लोगों की गिरफ्तारियां और उत्पीड़न की घटनाएं सुर्खियों...

हिटलर की जासूस थीं माता हारी

हिटलर की जासूस थीं माता हारी

ऐसा नहींं है कि जासूसी पूरी तरह से पुरुषों के लिए ही बनाया गया प्रोफेशन है. महिलाओं ने भी जासूसी से पूरी दुनिया में अपना लोहा मनवाया है. महिला जासूसों पर निकाली जा रही सीरीज में इस बार हम एक...

मोदी का सांकेतिक संदेश

आज तक विभिन्न राजनीतिक दल यह दावा करते आए हैं कि कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है, लेकिन उनके वास्तविक व्यवहार से ऐसा लगता है कि कश्मीर कोई दूसरा देश है. याद कीजिए, किस धूमधाम से एक सर्वदलीय प्रतिनिधि मंडल...

उत्तर-प्रदेश : कांग्रेस की चिंतन बैठक से वरिष्ठ नेता नदारद

उत्तर-प्रदेश : कांग्रेस की चिंतन बैठक से वरिष्ठ नेता नदारद

कांग्रेस पार्टी के खाते में अब केवल तिकड़म और परस्पर खींचतान ही शेष है. सियासी संभावनाओं और भविष्य की स्थापना के प्रयास पर कांग्रेस के नेताओं ने काम करना छोड़ दिया है. पिछले दिनों प्रदेश कांग्रेस की लखनऊ में हुई चिंतन...

कांग्रेस को अपनी ज़िम्मेदारी समझनी चाहिए

कांग्रेस को अपनी ज़िम्मेदारी समझनी चाहिए

भारतीय समाज में बहुत सारी कहानियां और कहावतें हैं, जो सैकड़ों-हज़ारों सालों के अनुभवों के बाद सूत्र रूप में बनी हैं. एक कहानी आपको सुनाते हैं. दो पड़ोसी थे. एक पड़ोसी दूसरे पड़ोसी से बहुत जलता था और उसकी जलन...

भू-माफिया ने बेच दी सरकारी ज़मीन

भू-माफिया ने बेच दी सरकारी ज़मीन

राजा को पता नहीं, मुसहर जंगल का सौदा कर रहे. यह कहावत इन दिनों उत्तराखंड में चरितार्थ हो रही है. आरक्षित वन क्षेत्र की ज़मीनों पर भू-माफिया अपनी नज़र गड़ाए बैठे हैं और मौक़ा लगते ही वे फर्जी दस्तावेजों के...

अच्छे दिनों का मतलब क्या है?

अच्छे दिनों का मतलब क्या है?

आख़िर सौ दिनों का एजेंडा क्या है? प्रधानमंत्री बनते ही नरेंद्र मोदी ने अपने सभी मंत्रियों से कहा था कि वे उन्हें एक प्रेजेंटेशन दें और उसमें बताएं कि सौ दिनों के भीतर वे क्या-क्या करने वाले हैं और किस...

सौ दिनों का एजेंडा कितना कारगर होगा

सौ दिनों का एजेंडा कितना कारगर होगा

नरेंद्र मोदी ने मंत्रिमंडल की पहली बैठकमें दो काम किए. मुझे लगता है कि वे दोनों काम अच्छे हैं. पहला काम, उन्होंने दस प्राथमिकताएं तय की हैं, जिन्हें सामने रखकर उनका मंत्रिमंडल काम करेगा. दूसरा काम, उन्होंने अपने मंत्रियों से...

फोटो पत्रकार नेताओं से ज्यादा परेशान रहे

फोटो पत्रकार नेताओं से ज्यादा परेशान रहे

16वीं लोकसभा के लिए हुए आम चुनाव नेताओं के साथ-साथ पत्रकारों के लिए भी थकाने वाला रहा. इस बार फोटोजर्नलिस्टों के लिए अपने काम को अंजाम देना सबसे ज्यादा चुनौती भरा रहा. बनारस इन चुनावों में सबसे ज्यादा आकर्षण का...

लोकसभा चुनावों में दक्षिण भारत की राजनीति

लोकसभा चुनावों में दक्षिण भारत की राजनीति

देश में 16वीं लोकसभा का चुनाव अपने पड़ाव की ओर आगे बढ़ रहा है. एक तरफ भारतीय जनता पार्टी नरेंद्र मोदी के रथ पर सवार चुनावों में विजय की नई गाथा लिखने को बेताब है, तो दूसरी ओर कांग्रेस पिछले...

डोल रहा नीतीश और हेमंत का सिंहासन

डोल रहा नीतीश और हेमंत का सिंहासन

16 मई को लोकसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद बिहार एवं झारखंड की राजनीति में भूचाल आना तय है. दलबदल क़ानून के कारण दो-तिहाई विधायकों के समर्थन के बिना पार्टी टूटना मुश्किल है और उतने जदयू विधायकों का जुगाड़...

यूक्रेन की क्रांति और क्रीमिया संकट

यूक्रेन की क्रांति और क्रीमिया संकट

क्रीमिया जल रहा है और दुनिया भर के देश अपनी दादागीरी में मस्त हैं. क्रीमिया संकट की शुरुआत से ही तनाव कम करने और शांतिपूर्ण रास्ता तलाशने के लिए सभी पक्षों से प्रत्यक्ष एवं रचनात्मक वार्ता का प्रयास होना चाहिए...

कुछ ने थामा दल का दामन, कुछ के तेवर बरकरार

कुछ ने थामा दल का दामन, कुछ के तेवर बरकरार

मुजफ्फरपुर लोकसभा क्षेत्र में जार्ज के अलावा बिजेंद्र चौधरी भी निर्दलीय उम्मीदवार थे. वह भी पूर्व विधायक हैं. पिछले चुनाव में उनकी कोई खास उपलब्धि नहीं रही. उसके बाद वह लोजपा में शामिल हो गए थे, लेकिन लोजपा का भाजपा...

अधर में लटके  महत्वपूर्ण  विधेयक

अधर में लटके महत्वपूर्ण विधेयक

लोकतंत्र की सबसे बड़ी पंचायत संसद देश की करोड़ों जनता का प्रतिनिधित्व करती है. सदन की शोभा सांसदों से नहीं, बल्कि उनके कार्यों और आचरण से बढ़ती है. इसे पंद्रहवीं लोकसभा के सत्र का स्याह पक्ष ही कहा जाएगा कि...

…और तभी सार्थक होगा मोमबत्तियों का जलना

…और तभी सार्थक होगा मोमबत्तियों का जलना

भ्रष्टाचार तो हम भारतीयों के रक्त में सम्मिलित हो गया है. इसे हमारे समाज ने सहजता से स्वीकार कर लिया है. हम ले-देकर काम कराने के आदी हो गए हैं. शॉर्टकट ढूंढने में मसरूफ हो गए हैं, हम जुगाड़ू हो गए...

राज्यसभा के बहाने लोकसभा की तैयारी

राज्यसभा के बहाने लोकसभा की तैयारी

अब लाख टके का सवाल है कि लालू प्रसाद अपने इस वादे को निभाएंगे कैसे? अगर गठबंधन के कारण अब्दुल बारी सिद्दीकी, सम्राट चौधरी, रघुनाथ झा, तस्लीमुद्दीन और  ललन पासवान जैसे नेता चुनाव नहीं लड़ पाए, तो राजद को एकजुट...

चुनावी चक्रव्यूह में फंसे समाजवादी

चुनावी चक्रव्यूह में फंसे समाजवादी

समाजवादी पार्टी को टिकट बंटवारे में छींके आने लगी हैं. साल भर पूर्व जिन नेताओं को लोकसभा का टिकट दिया गया था, चुनावी संध्या में उनमें से कई के टिकट कट गए. पहले सपा नेतृत्व ने वफादार समाजवादियों को टिकट...

वामपंथी नेताओं पर तरस आता है : वरवर राव

वामपंथी नेताओं पर तरस आता है : वरवर राव

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल भले ही भाजपा और कांग्रेस के निशाने पर हों, लेकिन माकपा के महासचिव प्रकाश करात अरविंद केजरीवाल की राजनीति से इन दिनों ख़ासे प्रभावित हैं. केजरीवाल की तारीफ़ों के पुल बांधतेे हुए करात ने अपनी...

यह एक औसत सरकार है

यूपीए-दो के कार्यकाल में भ्रष्टाचार के स्तर पर भी यह सरकार असफल ही रही. हालांकि, इस मामले में यूपीए सरकार का ही सारा दोष नहीं है, क्योंकि वैश्‍विक अर्थव्यवस्था ही संकट के दौर से गुज़र रही है. लेकिन दुर्भाग्य से...

राजनीतिक हवाओं के रुख़ को समझिए

आम आदमी पार्टी एक नया प्रयोग है, जिसे हम सभी ने बेहद क़रीब से देखा. पार्टी के जो भी पांच-छह मंत्री पदस्थ होंगे, यदि वे भ्रष्ट नहीं है, तो यह नौकरशाही के लिए एक संदेश होगा. नौकरशाही निर्लज्जता के स्तर...

निर्दलीय विधायक न घर के न घाट के

निर्दलीय विधायक न घर के न घाट के

विधानसभा का सत्र दोपहर एक बजे तक के लिये स्थगित कर दिया गया था. कुछ विधायक आपस में हंसी-मज़ाक कर रहे थे. बीजेपी के एक विधायक ज्योतिषीय अंदाज़ में एक निर्दलीय विधायक का हाथ पकड़ते हुए कहते हैं कि लाइए...

वादा और वास्तविकता

क्या अब भी लोकमानस में इस तरह के प्रश्‍न नहीं उठने चाहिए? हम गुलाम थे तो नेताओं का वादा था कि देश आजाद होगा तो समाजवाद आएगा, लोकतंत्र कायम होगा, और एक ऐसी सुंदर व्यवस्था बनेगी, जिसमें सबको इमान की...

शिवपाल के कंधों पर मुलायम का भार

शिवपाल के कंधों पर मुलायम का भार

सपा प्रमुख मुलायम सिंह के अनुज शिवपाल सिंह यादव हैं. जो सपा को आगे बढ़ाने के लिए अपनी राजनीतिक आकांक्षाओं की आहुति दे रहे हैं. एक तरफ मुलायम सिंह यादव, अखिलेश यादव, आज़म ख़ां जैसे नेता अपनी लच्छेदार बातों से...

राहुल गांधी को सीखने की ज़रूरत है

राहुल गांधी ने खुद कहा है कि वह पार्टी और सरकार में बड़ी भूमिका निभाने के लिए तैयार हैं, लेकिन यह भूमिका वह कब से निभाएंगे, इसका फैसला उनकी मां एवं कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह करेंगे....

Input your search keywords and press Enter.