fbpx

Tag: Orissa

सबसे कम उम्र की महिला सांसद हैं चंद्राणी, खुद CM नवीन पटनायक ने मांगा था मिलने का समय 

सबसे कम उम्र की महिला सांसद हैं चंद्राणी, खुद CM नवीन पटनायक ने मांगा था मिलने का समय 

भुवनेश्वर: चंद्राणी मुर्मू देश की सबसे युवा महिला सांसद बन गई हैं कुछ महीने पहले तक किसी अन्य लड़की की तरह ही 2017 में भुवनेश्वर स्थित एसओए विश्वविद्यालय से बी. टेक पूरा करने के बाद नौकरी ढूंढ रही थीं और कॉम्पिटिशन...

जानिए कमल के हैरान करने वाले औषधीय गुण

जानिए कमल के हैरान करने वाले औषधीय गुण

परिचय कमल पानी में उत्पन्न होने वाली वनस्पति है. इसके पत्र चौड़े होते हैं, जो थाली की तरह पानी में तैरते हुए दिखाई देते हैं. इसके पुष्प अत्यन्त सुन्दर व बड़े होते हैं. वर्ण-भेद से कमल के कई प्रकार होते...

Black Magic : भारत  में आज भी इन जगहों पर होता है काला जादू

Black Magic : भारत में आज भी इन जगहों पर होता है काला जादू

नई दिल्ली, (राज लक्ष्मी मल्ल) : काला जादू को भारत में सभ्य समाज से दूर रखा जाता है, भारत में काला जादू वैसे तो बैन है. लेकिन फिर भी लोग अपनी समस्याओं से तुरंत छुटकारा पाने के लिए काला जादू...

संकट में मानपुर का वस्त्र उद्योग

संकट में मानपुर का वस्त्र उद्योग

बिहार में पिछले ढाई दशक में कोई नए कारखाने नहीं लगे, लेकिन इतना हुआ कि पहले से जो कारखाने थे, वे किसी न किसी कारण से बंद होते चले गए. जिससे रोजगार प्राप्त लोग भी बेरोजगार होने लगे. बिहार के मगध...

चुनाव आया तो विकास में सहयोग के लिए अखिलेश ने लिखा सांसदों को पत्र : चतुर चिंता की चिट्ठी

चुनाव आया तो विकास में सहयोग के लिए अखिलेश ने लिखा सांसदों को पत्र : चतुर चिंता की चिट्ठी

उत्तर प्रदेश में जब विधानसभा चुनाव सामने है तब मुख्यमंत्री अखिलेश यादव में विकास के प्रति अतिरिक्त चिंता जाग्रत होने लगी है. सियासी नजरिए से यह स्वाभाविक है. सामाजिक नजरिए से विकास कहीं दिख नहीं रहा तो कम से कम...

कैम्पा क़ानून : आदिवासियों को जंगल से बेद़खल करने का वारंट है

कैम्पा क़ानून : आदिवासियों को जंगल से बेद़खल करने का वारंट है

ओड़ीशा के कंधमाल ज़िले के जंगलों में बसा एक छोटा सा गांव है बुलुबरू. यहां के निवासी अपना पेट भरने के लिए ज़मीन के जिस टुकड़े पर कंद मूल, फल, बाजरा इत्यादि उगाते थे, वहां वन विभाग ने सागवान के...

ओड़ीशा : 1 गांव, 100 दिन, 19 बच्चों की मौत : भूख और कुपोषण से त्रस्त हैं जनजातीय समूह

ओड़ीशा : 1 गांव, 100 दिन, 19 बच्चों की मौत : भूख और कुपोषण से त्रस्त हैं जनजातीय समूह

ओडीशा के जाजपुर जिले का एक ब्लॉक है सुकिंदा. इसी ब्लॉक के तहत आता है नगडा गांव. इस गांव में आप जाएं तो आपको कुछ अलग नहीं दिखेगा. लेकिन, जैसे ही आपको ये पता चलेगा कि तीन-चार महीनों के अंदर...

हमें कश्मीरियों की बात ध्यान से सुननी चाहिए

हमें कश्मीरियों की बात ध्यान से सुननी चाहिए

हमारे देश का राजनीतिक जगत या तो भ्रमित हो गया है या फिर असंवेदनशील हो गया है. कश्मीर में लोग असंतुष्ट हैं, सड़कों पर हैं, कर्फ्यू लगा हुआ है. सामान्य जनता के घरों में राशन, दूध व पानी की किल्लत...

ओड़ीशा :नियमगिरि में बॉक्साइट युद्ध : जनता का संघर्ष जारी है

ओड़ीशा :नियमगिरि में बॉक्साइट युद्ध : जनता का संघर्ष जारी है

ओड़ीशा माइनिंग कॉर्पोरेशन (ओएमसी) ने सुप्रीम कोर्ट में एक याचिका दायर करके नियमगिरि में फिर से ग्रामसभा बुलाने की मांग की थी, ताकि वह वेदांता रिसोर्सेज के साथ मिलकर, डोंगरिया कोंध आदिवासियों को अपने पक्ष में करके पवित्र समझे जाने...

सरकार सूखे को राष्ट्रीय समस्या घोषित कर निदान करे

सरकार सूखे को राष्ट्रीय समस्या घोषित कर निदान करे

अभी-अभी जब मैं संपादकीय लिखने बैठा हूं तो खबर आई कि पंजाब में चार किसानों ने आत्महत्या कर ली है. आत्महत्या की खबरें इतनी आम हो गई हैं कि उनकी चिंता न टेलीविजन को है, न अखबारों को है और...

झारखंड पुलिस की विशेष शाखा ने किया खुलासा : धन कमाने में लगे हैं नक्सली

झारखंड पुलिस की विशेष शाखा ने किया खुलासा : धन कमाने में लगे हैं नक्सली

बन्दूक की नली से सत्ता की राह निकालने की बात करने वाले नक्सली अब अपने तमाम सिद्धांतों को दरकिनार कर उच्चवर्गीय लोगों की तरह जीवन यापन करने में लगे हैं. पुलिस की नजर में भले ही शीर्ष नक्सली नेता फरार...

चलते-फिरते आयुध कारखाने बारूद और हथियार के कारीगर मांग रहे रोज़गार

चलते-फिरते आयुध कारखाने बारूद और हथियार के कारीगर मांग रहे रोज़गार

दिल्ली के जंतर-मंतर पर पिछले एक महीने से आयुध कारखाने (ऑर्डिनेंस फैक्ट्री) के हज़ारों पूर्व शिक्षु अप्रेंटिस (संशोधन) एक्ट-1961 की धारा-22 के तहत अप्रेंटिस भर्ती नीति लागू करने की मांग को लेकर अनिश्चितकालीन धरने पर बैठे हुए हैं. केंद्र सरकार...

कौन और क्यों बनाता है 21वीं सदी की डायन

कौन और क्यों बनाता है 21वीं सदी की डायन

अगस्त माह के पहले पखवाड़े में झारखंड एक बार फिर शर्मसार हुआ, जहां डायन होने और जादू-टोना करने के आरोप में सात महिलाओं समेत नौ लोग मौत के घाट उतार दिए गए. बीते 14 अगस्त की रात लोहरदगा ज़िले के...

उड़ीसा ने अन्‍ना हजारे को सिर-आंखों पर बैठाया : राजनीति को नए नेतृत्‍व की जरूरत है

उड़ीसा ने अन्‍ना हजारे को सिर-आंखों पर बैठाया : राजनीति को नए नेतृत्‍व की जरूरत है

अन्ना हजारे कार्यकर्ता सम्मेलन में शिरकत करने के लिए उड़ीसा दौरे पर गए. उनकी अगवानी करने के लिए बीजू पटनायक हवाई अड्डे पर हज़ारों लोग मौजूद थे, जो अन्ना हजारे जिंदाबाद, भ्रष्टाचार हटाओ और उड़ीसा को भ्रष्टाचार मुक्त बनाने के...

संशोधित भूमि अधिग्रहण बिलः ग्रामीण विकास या ग्रामीण विनाश

संशोधित भूमि अधिग्रहण बिलः ग्रामीण विकास या ग्रामीण विनाश

ओडिसा के जगतसिंहपुर से लेकर हरियाणा के फतेहाबाद में ग्रामीण भूमि अधिग्रहण का विरोध कर रहे हैं. दूसरी ओर झारखंड के कांके-नग़डी में आईआईएम के निर्माण के लिए हो रहे भूमि अधिग्रहण का लोग विरोध कर रहे हैं. इस पर...

दिल्ली का बाबू : उड़ीसा सरकार की विभेदकारी नीति

हाल में हुए हाउसिंग घोटाले में नेताओं और बाबुओं का नाम आना उड़ीसा सरकार के लिए चिंता का कारण बना हुआ है, लेकिन यह तो मात्र एक उदाहरण है, क्योंकि ऐसा अन्य राज्यों में भी हो रहा है. इस समय...

कोस्का: खुद खोज ली जीवन की राह

कोस्का: खुद खोज ली जीवन की राह

देश भर के जंगली क्षेत्रों में स्व:शासन और वर्चस्व के सवाल पर वनवासियों और वन विभाग में छिड़ी जंग के बीच उड़ीसा में एक ऐसा गांव भी है, जिसने अपने हज़ारों हेक्टेयर जंगल को आबाद करके न स़िर्फ पर्यावरण और...

बाघों के लिए बुरी खबर है

बाघों के लिए बुरी खबर है

इस बार सुंदरवन और पश्चिम बंगाल व उड़ीसा के नक्सल प्रभावित इलाक़ों को भी इस रिपोर्ट में शामिल किया गया है, जो पिछली बार शामिल नहीं थे. सबसे चिंताजनक बात यह है कि बाघों की जो बढ़ोतरी रिपोर्ट उन इलाक़ों...

गोदामों में सड़ता अनाज और सरकार

गोदामों में सड़ता अनाज और सरकार

हमारे मुल्क की सबसे बड़ी अदालत सुप्रीमकोर्ट ने एक बार फिर अनाज की बर्बादी पर सरकार को कड़ी फटकार लगाई है. गोदामों और खुले आसमान के नीचे रखे अनाज के लगातार सड़ने की घटनाओं पर सख्त रवैया अपनाते हुए अदालत...

पॉस्को परियोजना: घपलेबाज़ी की अंतहीन कहानी

पॉस्को परियोजना: घपलेबाज़ी की अंतहीन कहानी

उड़ीसा में 54000 करोड़ के निवेश से स्टील प्लांट लगाने को प्रयासरत पॉस्को कंपनी की अनैतिक कार्रवाइयों की लिस्ट का़फी लंबी है. प्लांट के लिए फॉरेस्ट क्लियरेंस में घपलेबाज़ी की बात अभी पुरानी भी नहीं हुई थी कि एक और...

पॉस्‍को परियोजनाः विरोध और स्‍वीकृतियों का इतिहास

पॉस्‍को परियोजनाः विरोध और स्‍वीकृतियों का इतिहास

कई बार कुछ खास तारीखें इतिहास में अहम बनकर रह जाती हैं. 28 जुलाई, 2010 को केंद्रीय वन एवं पर्यावरण मंत्रालय ने मौजूदा दौर की सबसे ज्यादा विवादित रही औद्योगिक परियोजनाओं में से एक के प्रस्तावित स्थल पर अनुसूचित जनजातियों...

स्‍कूलों में बच्‍चों की सुरक्षा का सवाल

स्‍कूलों में बच्‍चों की सुरक्षा का सवाल

हाल में उड़ीसा विधानसभा में एक ऐसे मुद्दे को लेकर गहमागहमी बढ़ गई, जिसका सीधा संबंध ग़रीब आदिवासियों की बेबसी और लाचारी की आड़ में उनके शोषण से जुड़ा था. राज्य सरकार द्वारा संचालित जनजातीय विद्यालय, जो ग़रीब एवं पिछड़े...

आंखों देखा नक्‍सलवाद

आंखों देखा नक्‍सलवाद

विदेशी हथियारों से लैस नक्सलवादी समूहों के पास सरकार से अधिक मज़बूत सूचनातंत्र है. गहराई तक जानें तो, इन नक्सलवादी समूहों के पास पैसा, हथियार, योजना सभी कुछ उम्मीदों से कहीं ज़्यादा है. लेकिन, ये समूह जन विश्वास और जन...

हीरे और अलेक्‍जेन्‍ड्राइट की तस्‍करी जारी

हीरे और अलेक्‍जेन्‍ड्राइट की तस्‍करी जारी

राजधानी से कुछ ही दूरी पर स्थित हीरे की खदान में पिछले लंबे समय से अवैध उत्खनन का काम धड़ल्ले से जारी है. मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के पास खनिज विभाग का ज़िम्मा भी है, इसके बावजूद सुरक्षा तंत्र इस...

माओवादी बंदूक की नोक पर बात करना चाहते हैं

माओवादी बंदूक की नोक पर बात करना चाहते हैं

अगर माओवादी आदिवासियों का हित चाहते हैं तो उनकी बस्तियों में अमन का होना भी ज़रूरी है, क्योंकि इसके बिना कोई विकास कार्य नहीं किया जा सकता. क्रॉस फायरिंग के माहौल में सड़क या पुल बनाने का काम नहीं हो...

दर्द से कराहती ज़िंदगी दूषित पानी से विकलांग होते ग्रामीण

दर्द से कराहती ज़िंदगी दूषित पानी से विकलांग होते ग्रामीण

यूनीसेफ की सर्वेक्षण रिपोर्ट के मुताबिक़ पूरे भारत वर्ष के 20 राज्य के ग्रामीण अंचलों मे रहने वाले लाखों लोग फ्लोराइड युक्त पानी के सेवन से फ्लोरोसिस के शिकार हैं. सर्वाधिक प्रभावित राज्यों मे आंध्रप्रदेश, गुजरात एवं राजस्थान है, जहां...

सरकार कंपनियों के आगे नतमस्‍तक

सरकार कंपनियों के आगे नतमस्‍तक

छत्तीसगढ़ के मुख्य सचिव गदगद हैं कि बड़े उद्योग राज्य पर बहुत मेहरबान हैं और अब तक कोई चार लाख करोड़ रुपये का निवेश कर चुके हैं. छत्तीसगढ़ को अलग राज्य बने बस एक ही दशक तो पूरा हुआ है...

बैगन पर बवाल, सेहत का सवाल

बैगन पर बवाल, सेहत का सवाल

काफी दिनों से बीटी बैगन को लेकर पूरे देश में व्यापक बहस चल रही है. इसके पक्ष और विपक्ष में तर्क दिए जा रहे हैं. कहने का मतलब यह है कि बीटी बैगन सुर्ख़ियों में है. लेकिन सवाल यह उठता...

सच की जुबान पर सरकार का पहरा

सच की जुबान पर सरकार का पहरा

केंद्र सरकार की इस बेताला धुन पर कई राज्य सरकारें जुगलबंदी कर रही हैं कि माओवादी अमन और तऱक्क़ी के जानी दुश्मन हैं, देश और समाज के लिए सबसे बड़ा ख़तरा हैं. यह न्याय और अधिकार की आवाज़ को कुचल...

अन्नदाता की ख़ुदकुशी का इंतज़ाम

अन्नदाता की ख़ुदकुशी का इंतज़ाम

आंकड़े बताते हैं कि 1997 से 2008 तक भारत में क़रीब सवा लाख किसान ख़ुदक़ुशी कर चुके हैं. इनमें ऊपर बताए गए राज्यों के अलावा छत्तीसगढ़, गुजरात, पंजाब, उड़ीसा और केरल के किसान शामिल हैं. और यही वह समय भी...

Input your search keywords and press Enter.