fbpx

Tag: social

दमोह-निर्मल जैन : स्वयं सेवक की दुख भरी कहानी : मोहन भागवत के लिए

दमोह-निर्मल जैन : स्वयं सेवक की दुख भरी कहानी : मोहन भागवत के लिए

नौसाल की उम्र से एक व्यक्तिसंघ की शाखा में जाता रहा. उम्र के सातवें दशक में भी वह आदमी खुद को संघ का सिपाही बताता है. किसी संगठन के प्रति इस समर्पण की तो बस सराहना ही की जा सकती...

इस कलंक से मुक्ति के लिए स़िर्फ क़ानून का़फी नहीं

इस कलंक से मुक्ति के लिए स़िर्फ क़ानून का़फी नहीं

हाथ से मैला उठाने, उसे सिर पर ढोने या मैनुअल स्केवेंजिंग का घिनौना और अमानवीय कार्य आज भी हमारे देश में जारी है. मैला ढोने की यह प्रथा देश के माथे पर एक ऐसा बदनुमा दाग़ है, जिसे देखकर सबको...

शाश्वत साई चेतना

शाश्वत साई चेतना

अब जरा हम अपने सदगुरु श्री शिरडी साई बाबा का उदाहरण लें. अपना शरीर छोड़ने के पहले बाबा ने बहुत स्पष्ट शब्दों में अपने भक्तों को कुछ आश्वासन दिए थे जो कि बाबा के ग्यारह वचनों के रूप में प्रसिद्ध...

आईएसआईएस मध्य-पूर्व की संस्कृति पर ख़तरा

आईएसआईएस मध्य-पूर्व की संस्कृति पर ख़तरा

मैं भी किसी दूसरे कनाडाई नाकरिक की तरह ही जिंदगी जीता था. हॉकी मैच देखता था. गर्मियों में घूमने जाता था. मुझे शिकार करना भी पसंद था. लेकिन मैं इराक आ गया. कोई भी मुसलमान चाहे तो आईएसआईएस की मदद...

प्रधानमंत्री के नाम अन्ना की चिट्ठी

प्रधानमंत्री के नाम अन्ना की चिट्ठी

सेवा में, श्रीमान् डॉ. मनमोहन सिंह जी, प्रधानमंत्री, भारत सरकार, नई दिल्ली. विषय : गैंगरेप-मानवता को कलंकित करने वाली शर्मनाक घटना घटी और देश की जनता का आक्रोश सड़कों पर उतर आया. ऐसे हालात में आम जनता का क्या दोष...

सरकार जवाब दे यह देश किसका है

सरकार जवाब दे यह देश किसका है

हाल में देश में हुए बदलावों ने एक आधारभूत सवाल पूछने के लिए मजबूर कर दिया है. सवाल है कि आखिर यह देश किसका है? सरकार द्वारा देश के लिए बनाई गई आर्थिक नीतियां और राजनीतिक वातावरण समाज के किस...

पूरे चांद की रात…

पूरे चांद की रात…

भारतीय साहित्य के प्रमुख स्तंभ यानी उर्दू के मशहूर अ़फसानानिग़ार कृष्ण चंदर का जन्म 23 नवंबर, 1914 को पाकिस्तान के गुजरांवाला ज़िले के वज़ीराबाद में हुआ. उनका बचपन जम्मू कश्मीर के पुंछ इलाक़े में बीता. उन्होंने तक़रीबन 20 उपन्यास लिखे...

अधिकारों से वंचित हैं मुस्लिम महिलाएं

अधिकारों से वंचित हैं मुस्लिम महिलाएं

दुनिया की तक़रीबन आधी आबादी महिलाओं की है. इस लिहाज़ से महिलाओं को तमाम क्षेत्रों में बराबरी का हक़ मिलना चाहिए, लेकिन ऐसा नहीं है. कमोबेश दुनिया भर में महिलाओं को आज भी दोयम दर्जे पर रखा जाता है. अमूमन...

आत्‍महत्‍या की कीमत हम सब चुकाते हैं

आत्‍महत्‍या की कीमत हम सब चुकाते हैं

वर्ष 2006 में मानव संसाधन विकास राज्यमंत्री नवीन जिंदल ने संसद में एक मुद्दा उठाया कि भारतीय छात्रों द्वारा आत्महत्या की घटनाओं की वजह क्या है और सरकार किस तरह आत्महत्या के आंकड़े बढ़ने से रोक सकती है. इसके बाद...

महाभारत के पात्र आसपास बिखरे हैं

महाभारत के पात्र आसपास बिखरे हैं

भारतीय समाज में प्राचीन काल से लेकर आज तक सामाजिक और राजनीतिक पृष्ठभूमि में कोई विशेष बदलाव नहीं आया है. उस व़क्त भी ताक़तवर व्यक्ति अपने फायदे के लिए कमज़ोर व्यक्ति का इस्तेमाल करता था, और आज भी ऐसा ही...

सरल शब्दों में जीवन की अभिव्यक्ति

सरल शब्दों में जीवन की अभिव्यक्ति

हाल में आरोही प्रकाशन ने रेणु हुसैन की कविताओं के दो संग्रह प्रकाशित किए हैं. पहला कविता संग्रह है पानी-प्यार और दूसरे कविता संग्रह का नाम है जैसे. अंग्रेज़ी की वरिष्ठ अध्यापिका रेणु हुसैन स्कूल के व़क्त से ही कविताएं...

माननीयों की मनमानी: एक और ज़मीन घोटाला

माननीयों की मनमानी: एक और ज़मीन घोटाला

महाराष्ट्र में घोटालों का सिलसिला रुकने का नाम नहीं ले रहा. माननीयों के कारनामों की फेहरिस्त कितनी लंबी है, इसका अंदाज लगा पाना मुश्किल है. ऐसा लगता है कि घोटालों के मामले में राज्य सरकार किसी भी सूरत में केंद्र...

अनूप श्रीवास्तव एएस बने

अनूप श्रीवास्तव एएस बने

1981 बैच के आईएएस अधिकारी अनूप कुमार श्रीवास्तव को सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय में अतिरिक्त सचिव बनाया गया है. वह संगीता गैरोला की जगह लेंगे. अनूप श्रीवास्तव इससे पहले राजस्व विभाग में संयुक्त सचिव के पद पर कार्यरत थे.

अनूप कुमार और विंद्रा स्वरूप एएस बनेंगे

अनूप कुमार और विंद्रा स्वरूप एएस बनेंगे

1981 बैच के आईएएस अधिकारी अनूप कुमार को सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय में अतिरिक्त सचिव बनाया जाएगा. वह संगीता गैरोला की जगह लेंगे, जिन्हें संस्कृति मंत्रालय में सचिव बनाया गया है. इसी बैच के आईएएस अधिकारी विंद्रा स्वरूप को...

महिलाओं के अधिकार और क़ानून

महिलाओं के अधिकार और क़ानून

हर व्यक्ति जन्म से ही कुछ अधिकार लेकर आता है, चाहे वह जीने का अधिकार हो या विकास के लिए अवसर प्राप्त करने का. मगर इस पुरुष प्रधान समाज में महिलाओं के साथ लैंगिक आधार पर किए जा रहे भेदभाव...

मुस्लिम सियासत और पीस पार्टी

मुस्लिम सियासत और पीस पार्टी

एक महीने से अधिक समय तक चले उत्तर प्रदेश, पंजाब, उत्तराखंड, मणिपुर और गोवा विधानसभा चुनावों की प्रक्रिया 6 मार्च को मतगणना और परिणामों की घोषणा के साथ समाप्त हो गई. इसके साथ ही समाप्त हो गया वह लंबा इंतज़ार...

कंपनी बिल-2011 : राजनीतिक दलों का दोहरा रवैया

कंपनी बिल-2011 : राजनीतिक दलों का दोहरा रवैया

14 दिसंबर, 2011 को लोकसभा में एक घटना घटी. डॉ. वीरप्पा मोइली ने दोपहर के बाद कंपनी बिल-2011 लोकसभा में पेश किया. इस बिल में राजनीतिक दलों को कंपनियों द्वारा दिए जाने वाले धन का प्रावधान है. इस बिल के...

स्त्रियों की मज़दूरी का मूल्यांकन

स्त्रियों की मज़दूरी का मूल्यांकन

फिर कल-काऱखानों के चल निकलने के कारण स्त्री कामगारों की संख्या बढ़ी, लेकिन बाज़ार में इनकी मज़दूरी का भाव पुरुषों की अपेक्षा निम्न स्तर का ही रहा. मालिकों की दलील यह थी कि यदि हमें मज़दूरों की ज़रूरत ही हो...

शिष्टाचार भूलते कांग्रेसी

शिष्टाचार भूलते कांग्रेसी

उत्तर प्रदेश में अपनी दाल न गलती देख कांग्रेस ने राजनीतिक फायदा उठाने के लिए चुनाव आयोग को ठेंगा दिखाने और विपक्ष का अपमान करने की नई मुहिम छेड़ दी है. कांग्रेस के युवराज राहुल गांधी सहित कोई न कोई...

उत्तर प्रदेश : क्या मुस्लिम विधायकों की संख्या बढे़गी

उत्तर प्रदेश : क्या मुस्लिम विधायकों की संख्या बढे़गी

मुस्लिम वोटों को लेकर सियासी दलों के बीच जंग चलती है और लोक-लुभावन घोषणाएं की जाती हैं, लेकिन इसका फायदा मुसलमानों को होता है, इस पर सवालिया निशान लगाए जा सकते हैं. मगर मुसलमानों को इसका एक यह फायदा तो...

कंपनियों का अवतरण

कंपनियों का अवतरण

ये मध्यम वर्ग के लोग जो शुरू-शुरू में छुटभैय्या, कारिंदों या मंत्रियों के रूप में सामने आए थे, धीरे-धीरे स्वयं व्यापार करने लगे. एक तऱफ पूंजीपतियों की पूंजी थी, दूसरी तऱफ मज़दूर की मेहनत थी. दोनों का उपयोग करते हुए...

फेसबुक की करतूत

फेसबुक की करतूत

विश्व में तलाक के एक तिहाई मामलों के लिए सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक ज़िम्मेदार है. यह दावा एक विधिक परामर्शदाता कंपनी ने किया है. बताया गया कि तलाक के मामलों में फेसबुक का प्रयोग बतौर सबूत किया जा रहा है....

जहां चाह, वहां राह

एक अच्छी कोशिश हमेशा प्रशंसनीय होती है, लेकिन जब ऐसी कोई कोशिश नए और संसाधनों का अभाव झेलने वाले लोग करते हैं तो वे दो-चार अच्छे शब्दों और शाबाशी के हक़दार ख़ुद-बख़ुद हो जाते हैं. त्रैमासिक साहित्यिक पत्रिका समसामयिक सृजन...

पूंजी की निर्धारित सीमा

पूंजी संपत्ति पूंजीवाद का मूल स्तंभ है. इसे मिटाना ही होगा. इस श्रेणी में प्रधानत: दो ही संपत्तियों का समावेश होता है- (1) ज़मीन जायदाद, (2) पूंजी. भारत सरकार ने जबसे समाजवादी अर्थव्यवस्था को अपना ध्येय घोषित किया है, प्रथम...

सुरेश पांडा अतिरिक्त सचिव बने

सुरेश पांडा अतिरिक्त सचिव बने

1981 बैच के आईएएस अधिकारी सुरेश चंद्र पांडा को गृह मंत्रालय में अतिरिक्त सचिव एवं एफए बनाया गया है. वह विश्वपति त्रिवेदी की जगह लेंगे, जिन्हें खनिज मंत्रालय में सचिव बनाया गया है.

सोशल नेटवर्किंग साइट्स और फिल्मी सितारे

सोशल नेटवर्किंग साइट्स और फिल्मी सितारे

एक छोटे एक्शन सीन की शूटिंग के दौरान पसलियों में चोट लग गई...अंदर कुछ नुक़सान हुआ है. सांस लेने में परेशानी हो रही है. रात के तीन बज रहे हैं...कौन बनेगा करोड़पति का एपिसोड शूट करके घर लौट रहा हूं...सुबह...

युवा शक्ति को पहचानने की ज़रुरत

युवा शक्ति को पहचानने की ज़रुरत

किसी भी देश का सामाजिक और आर्थिक विकास उसकी युवा शक्ति पर निर्भर करता है. भारत जैसे देश, जहां युवाओं की संख्या अच्छी-खासी है, वहां यह बात और अधिक प्रासंगिक हो जाती है. भारत के आर्थिक नियोजक इस पर ध्यान...

सामुदायिक रेडियो : बदलाव का सशक्त माध्यम

22 वर्षीय मंजुला पिछले वर्ष एक दिन अगस्त माह में रेडियो स्टेशन जा पहुंची और सुबह 5 बजे सुनामी के लिए सावधान रहने की घोषणा प्रसारित करने लगी. सवेरे रेडियो के श्रोता सकते में आ गए, क्योंकि वे इतने सवेरे...

हॉलीवुड से… शिक्षा के क्षेत्र में शकीरा

हॉलीवुड से… शिक्षा के क्षेत्र में शकीरा

कोई विख्यात शख्स अगर समाजसेवा के क्षेत्र में उतर जाए तो उसका परिणाम सकारात्मक होना स्वाभाविक है. पॉप स्टार शकीरा ने समाजसेवा से जुड़ने की घोषणा की है. वह अब अमेरिका में शिक्षा के क्षेत्र में काम करेंगी, लोगों को...

Input your search keywords and press Enter.